मेलबर्न कोर्ट ने ऑस्ट्रेलियाई सरकार के साथ जारी वीजा विवाद मामले में सर्बिया के टेनिस स्टार नोवाक जोकोविच को बड़ी राहत दी है। दुनिया के नंबर-1 सर्बिया के टेनिस खिलाड़ी जोकोविच ने ऑस्ट्रेलिया सरकार के खिलाफ वीजा से जुड़े मामले का केस जीत लिया है। कोर्ट ने ऑस्ट्रेलियाई द्वारा नोवाक जोकोविच के वीजा रद्द करने के फैसले को गलत ठ​हराया है। मेलबर्न की अदालत ने आदेश दिया है कि नोवाक जोकोविच का पासपोर्ट और बाकी जो भी सामान सरकार द्वारा जब्त किया गया है, उसे तुरंत वापस लौटाया जाए। 

जोकोविच ने अपना वीजा रद्द किए जाने को अदालत में चुनौती दी थी, जिस पर सोमवार को मेलबर्न में वर्चुअल सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान अदालत ने ऑस्ट्रेलियाई सरकार का फैसला पलट दिया है। जोकोविच के वकीलों ने तर्क दिया कि पिछले महीने ही कोरोना संक्रमण की चपेट में आने के कारण उन्हें कड़े टीकाकरण नियमों से मेडिकल छूट मिलनी चाहिए। कोर्ट के फैसले के बाद सर्बिया टेनिस स्टार अब ऑस्ट्रेलियन ओपन में अपना खिताब बचाने उतरेंगे।
 

मेलबर्न कोर्ट में जज एंथनी केली ने ऑस्ट्रेलियाई सरकार के फैसले को बर्खास्त करते हुए जोकोविच को तुंरत रिहा करने का आदेश जारी किया। कोर्ट के इस फैसले के बाद दुनिया के नंबर-1 टेनिस खिला​ड़ी जोकोविच अब ऑस्ट्रेलिया में ही रुकेंगे। कोर्ट ने साथ ही सरकार को आदेश दिया कि वे जोकोविच का पासपोर्ट भी उन्हें वापस कर दे। हालांकि, कोर्ट के आदेश के बाद भी ऑस्ट्रेलियाई सरकार जोकोविच को देश से बाहर भेजने पर अड़ी हुई है। कोर्ट में सरकार का पक्ष रख रहे वकील क्रिस ट्रान ने कहा है कि सरकार जोकोविच के वीजा को रद्द करने पर दोबारा से विचार करेगी। 

दरअसरल बुधवार की शाम मेलबर्न एयरपोर्ट पहुंचन के बाद ऑस्ट्रेलिया ने उनका एंट्री वीजा रद्द कर दिया था। ऑस्ट्रेलियन ओपन खिताब बचाने के लिए मेडिकल छूट पाने के लिए जोकोविच इतना ज्यादा उलझ गए थे कि उन्होंने अपने वीजा पर पूरी तरह से ध्यान नहीं दिया और इसी वजह से उन्हें मेलबर्न एयरपोर्ट पर इतनी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था।  

क्या है पूरा मामला

जोकोविच ने अब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं ली है। पिछले वर्ष ही जोकोविच ने वैक्सीन का खुलकर विरोध किया था। उन्होंने कहा था कि वह वैक्सीनेशन के खिलाफ हैं। लेकिन ऑस्ट्रेलिया में वैक्सीन को लेकर कड़े नियम बनाए गए हैं। जोकोविच ने अपनी मेडिकल परेशानी की हवाला देते हुए कहा था कि वो फिलहाल वैक्सीन नहीं लगवा सकते और उन्हें ऑस्ट्रेलियन ओपन में खेलने की छूट मिल गई थी, लेकिन जोकोविच के ऑस्ट्रेलिया पहुंचने के बाद उनसे मेडिकल परेशानी के सबूत मांगे गए। इसके बाद उन्हें एयरपोर्ट में ही रोक लिया गया था। इसके बाद मामला कोर्ट तक जा पहुंचा। लेकिन अब कोर्ट ने उनके फेवर में फैसला सुनाया है। 





Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *