rohan bopanna photo twitter 1631978061


रोहन बोपन्ना और रामकुमार रामनाथन की जोड़ी शनिवार को यहां ‘करो या मरो’ के डबल्स मैच में हार गई, जिससे भारत ने फिनलैंड के खिलाफ वर्ल्ड ग्रुप का मुकाबला गंवा दिया। कप्तान रोहित राजपाल ने अंतिम मिनट में डबल्स जोड़ी बदलकर बोपन्ना को दिविज शरण के बजाय रामकुमार के साथ उतारा। पर इससे भी भारत को मदद नहीं मिली और इस अहम मैच में बोपन्ना और रामकुमार की जोड़ी हैनरी कोंटिनेन और हैरी हेलियोवारा से एक घंटे 38 मिनट में 6-7 6-7 से हार गई। इस तरह फिनलैंड ने मुकाबले में 3-0 से अजेय बढ़त बना ली। प्रजनेश गुणेश्वरन और रामनाथन दोनों शुक्रवार को अपने सिंगल्स मैच गंवा चुके थे, जिससे मुकाबले में बने रहने के लिए भारतीयों को डबल्स मुकाबला जीतने की जरूरत थी। अब रिवर्स सिंगल्स मैच महत्वहीन हो गए हैं।

हेलियोवारा को कोर्ट पर चारों खिलाड़ियों में सबसे कमजोर माना जा रहा था, लेकिन उन्होंने अपने खेल में कई गुना सुधार किया और मैच के नतीजे को प्रभावित किया। वहीं दूसरी ओर भारतीय जोड़ी ने जब बढ़त बनाई हुई थी, तब इसे गंवा बैठी। उन्होंने दूसरे सेट में आठ गेम में चार ब्रेक प्वाइंट गंवाए। जबकि इनमें जीतने से उन्हें मेजबान जोड़ी पर दबाव बनाने का मौका मिल जाता। पहले सेट में 3-3 की बराबरी के बाद भारतीय जोड़ी ने हेलियोवारा की सर्विस पर आक्रामकता दिखाई। पर रामकुमार की डबल फॉल्ट और नेट पर वॉली गलती का फायदा उठाते हुए फिनलैंड की जोड़ी सेट टाई ब्रेकर के बाद अपने नाम किया।

रनिंदर सिंह चौथी बार चुने गए NRAI के अध्यक्ष, बसपा सांसद को दी मात

दूसरे सेट में भी बोपन्ना लगातार असहज गलतियों के कारण अपनी सर्विस गंवा बैठे। यह सेट भी टाई ब्रेकर तक पहुंचा जिसमें फिनलैंड के खिलाड़ी हेलोवारा ने 5-2 पर शानदार फारहैंड से पहला मैच प्वाइंट हासिल किया और फिर रामकुमार अगले प्वॉइंट में रिटर्न नहीं कर सके जिससे फिनलैंड ने मुकाबले में 3-0 से अजेय बढ़त बना ली। प्रजनेश शुक्रवार को अपने से निचली रैंकिंग खिलाड़ी से हार गये जबकि रामकुमार रामनाथन को भी दूसरे सिंगल्स में पराजय झेलनी पड़ी। शुक्रवार को पहले मैच में वर्ल्ड रैंकिंग में 165वें स्थान पर काबिज प्रजनेश को रैंकिंग में काफी नीचे के खिलाड़ी ओटो विर्तानेन (419वीं रैंकिंग) से एक घंटे 25 मिनट तक चले मैच में 3-6, 6-7 से हार का सामना करना पड़ा।

रामकुमार रामनाथन (187वीं रैंकिंग) ने दूसरे मैच में फिनलैंड के नंबर एक खिलाड़ी एमिल रूसुवुओरी को कड़ी चुनौती पेश की, लेकिन वह वर्ल्ड रैंकिंग में 74वें स्थान पर काबिज खिलाड़ी से 4-6 5-7 से हार गए। भारत को अच्छा ड्रॉ मिला था, जिसमें प्रजनेश निचली रैंकिंग के खिलाड़ी से खेल रहे थे लेकिन विर्तानेन ने आसान जीत हासिल की। रामकुमार ने अपने प्रतिद्वंद्वी की चुनौती से पार पाने के लिये कुछ कोशिशें की, लेकिन वह भारत को बराबरी पर नहीं ला सके। प्रजनेश की हार काफी निराशाजनक थी, क्योंकि उनके सामने काफी कम अनुभवी खिलाड़ी था, जिसने इससे पहले केवल एक डेविस कप मैच जीता था।

डेविस कप: प्रजनेश गुणेश्वरन और रामकुमार रामनाथन हारे, फिनलैंड के खिलाफ भारत 0-2 से पिछड़ा

छठे गेम में सर्विस गंवाने के बाद रामकुमार ने चतुराई से खेलते हुए तुरंत वापसी की। उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी को हैरान करते हुए अच्छे प्वॉइंट जुटाए। दसवें गेम में वह पहले सेट में बने रहने के लिए अपनी सर्विस पर 0-40 से पिछड़ रहे थे लेकिन बैकहैंड शॉट के बाहर जाने से वह इसे गंवा बैठे। दूसरे सेट में रूसुवुओरी ने रामकुमार की रणनीति का करारा जवाब दिया और कुछ शानदार विनर लगाकर दबाव बना दिया। फिर दोनों खिलाड़ी 5-5 से बराबरी पर थे लेकिन रूसुवुओरी ने अपने खेल को मजबूत करते हुए जानदार स्ट्रोक्स लगाए। उन्होंने 40-40 पर शानदार क्रॉस विनर लगाकर अपना पहला मैच प्वाइंट हासिल किया लेकिन रामकुमार ने खुद को सयंमित रखते हुए इसे बचा लिया। पर भारतीय खिलाड़ी ने जल्द ही डबल फॉल्ट कर दिया जिससे रूसुवुओरी को अपना दूसरा मैच प्वॉइंट मिला, जिस पर उन्होंने बैकहैंड विनर लगाकर अपनी टीम को 2-0 से बढ़त दिला दी।
 



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *