c8bf1c3b5e129d9a6d5ea0049ba20682 original


Digital Health Identity Card:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को आयुष्मान भारत-डिजिटल मिशन की शुरुआत की जिसके तहत लोगों को डिजिटल स्वास्थ्य पहचान पत्र (digital health identity card) प्रदान किया जाएगा जिसमें उनका स्वास्थ्य संबंधी रिकॉर्ड दर्ज होगा.

प्रधानमंत्री ने पिछले साल 15 अगस्त को लाल किले की प्राचीर से राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य अभियान की पायलट परियोजना की घोषणा की थी. वर्तमान में इस योजना को छह केंद्र शासित प्रदेशों में प्रारंभिक चरण में लागू किया जा रहा है. पीएम मोदी ने कहा, ‘‘आयुष्मान भारत-डिजिटल मिशन के तहत देशवासियों को अब एक डिजिटल हेल्थ आईडी मिलेगी. हर नागरिक का स्वास्थ्य संबंधी रिकॉर्ड डिजिटल रूप से सुरक्षित रहेगा.’’

डिजिटल हेल्थ ID कार्ड

  • आधार कार्ड की तरह यह एक यूनिक ID कार्ड होगा जो आपके हेल्थ रिकॉर्ड को मेंटेन करने में मदद करेगा.
  • डिजिटल हेल्थ ID कार्ड आपकी पर्सनल डिटेल्स के आधार पर बनाया जाएगा.
  • आधार कार्ड या नागरिक के मोबाइल नंबर का इस्तेमाल करके ID बनाई जाएगी.
  • यह आईडी हेल्थ रिकॉर्ड को मेंटेन करने के लिए एक आईडेंटिफायर के रूप में काम करेगी.
  • सिस्टम डेमोग्राफिक और लोकेशन, फैमिली/रिलेशनशिप और कांटेक्ट डिटेल्स सहित कुछ जरूरी जानकारी भी एकत्र करेगा.
  • फिर नागरिक की सहमति लेने के बाद इस जानकारी को हेल्थ ID से जोड़ा जाएगा.
  • NDHM की वेबसाइट के मुताबिक, ‘पर्सनल हेल्थ रिकॉर्ड-सिस्टम (पीएचआर)’ नामक जानकारी एक व्यक्ति को अपने हेल्थ केयर के बारे में जानकारी को मैनेज करने में सक्षम बनाती है.

डिजिटल हेल्थ ID कार्ड कैसे काम करेगा

  • डिजिटल हेल्थ ID, प्रोफेशनल रजिस्ट्री, हेल्थ फैसिलिटी रजिस्ट्री और इलेक्ट्रॉनिक हेल्थ रिकॉर्ड- नाम के चार ब्लॉक इस योजना में शामिल होंगे.
  • इन चार ब्लॉक के माध्यम से स्वास्थ्य सेवा के लिए एक डिजिटल एनवायरमेंट बनाना योजना का मकसद है.
  • मिशन एक ‘इलेक्ट्रॉनिक मेडिकल रिकॉर्ड (EMR)’ बनाएगा. इसमें पेशेंट की मेडिकल और ट्रीटमेंट हिस्ट्री होगी.

डिजिटल हेल्थ कार्ड ऐसे बनेगा 

  • नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन की वेबसाइट gov.in पर जाएं.
  • Create Health ID नाम से आपको एक ऑप्शन दिखेगा.
  • जैसे ही आप इस ऑप्शन पर क्लिक करेंग कार्ड बनने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.
  • आपसे आधार कार्ड की जानकारी ही मांगी जाएगी.
  • अपना आधार नंबर डालें और उसके बाद OTP डालकर वेरीफाई करें.
  • बिना आधार की जानकारी दिए भी हेल्थ कार्ड बनाने का ऑप्शन चुना जा सकता है.
  • सिर्फ मोबाइल नंबर बताकर भी हेल्थ कार्ड बनवाया जा सकता है.
  • मोबाइल नंबर देने के बाद आपको उसे OTP के जरिए वेरीफाई करना होगा.
  • प्रोफाइल के लिए अपनी एक फोटो, जन्म तिथि,पता समेत कुछ अन्य जानकारियां देनी होंगी.
  • आपके सामने एक फॉर्म खुलेगा, जिसमें जानकारियां भरनी होंगी.
  • सारी जानकारी भरते ही आपके सामने एक हेल्थ ID कार्ड बनकर आ जाएगा.
  • हेल्थ आईडी कार्ड में आपकी जानकारियां, फोटो और साथ ही एक QR कोड होगा.

 



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *