देश में कोरोना टीके की कमी के बीच हरियाणा को माल्टा की एक कंपनी ने रूस की स्पूतनिक वी टीके की 6 करोड़ डोज सप्लाई करने को तैयार है। हरियाणा सरकार और कंपनी के बीच डील पक्की होती है तो यह राज्य विदेशी कंपनियों से टीके आपूर्ति करने वाला देश का पहला राज्य बन सकता है।

हरियाणा सरकार ने शनिवार को एक बयान जारी  करते हुए कहा कि फार्मा रेगुलेटरी सर्विसेज लिमिटेड जिसका हेड ऑफिस यूरोपीय राष्ट्र में है, ने  स्पूतनिक वी टीके की सप्लाई में रुचि दिखाई है। राज्य सरकार ने यह भी कहा है कि कंपनी की ओर से अभी तक अनुबंध के लिए बोली नहीं लगाई गई है।

बता दें कि टीकाकरण को तेजी से आगे बढ़ाने के लिए हरियाणा चिकित्सा सेवा निगम ने राज्य में टीके की सप्लाई के लिए पिछले महीने एक ग्लोबल टेंडर जारी किया था। इस ग्लोबल टेंडर के जरिए फार्मा कंपनियों को टीके की सप्लाई के लिए आमंत्रित किया गया था। शुक्रवार को टेंडर भरने की आखिरी तारीख खत्म होगी जिसकी वजह से माल्या की यह कंपनी दौड़ में शामिल नहीं हो पाई है।

सामने आए 723 नए मामले
हरियाणा में कोरोना संक्रमण मामलों में गिरावट का सिलसिला जारी है। राज्य में आज ऐसे 723 नए मामले आए जिससे इस महामारी से पीड़तिों की कुल संख्या 761637 हो गई है जिनमें 465359 पुरूष, 296261 महिलाएं और 17 ट्रांडजेंडर है। इनमें से 742999 ठीक हो चुके हैं तथा सक्रिय मामले 9974 हैं। राज्य में 73 कोरोना मरीजों के आज दम तोड़ देने से इस महामारी से मरने वालों की कुल संख्या 8664 हो गई है।

खतरा अभी टला नहीं
राज्य में कोरोना संक्रमण दर 8.26 प्रतिशत, रिकवरी दर 97.55 प्रतिशत जबकि मृत्यु दर 1.14 प्रतिशत है। राज्य के  सभी 22 जिलों से कोरोना के मामले आ रहे हैं लेकिन इनमें अब लगातार गिरावट आ रही है। हालांकि खतरा अभी टला नहीं है विशेषकर ब्लैक फंगस के मामलों ने चिंताएं बढ़ा दी हैं। गुरूग्राम और फरीदाबाद जिलों में अपेक्षाकृत स्थिति गम्भीर है।
 

संबंधित खबरें



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *