deepika kumari pti file photo 1602702897


वर्ल्ड कप चैम्पियन भारतीय महिला रिकर्व टीम फाइनल क्वालीफायर मुकाबले में कम रैंकिंग वाले कोलंबिया से हारकर रविवार को ओलंपिक की दौड़ से बाहर हो गई। भारतीय महिला तीरंदाजों के पास टोक्यो में अपने सिंगल्स महिला कोटे के स्थान के साथ टीम कोटा हासिल करने का यह आखिरी मौका था, लेकिन वे इसमें विफल रहे। दीपिका कुमारी अब टोक्यो खेलों में महिला वर्ग में भारत की इकलौती खिलाड़ी होंगी। वह लगातार तीसरे ओलिंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करेंगी। भारत ने 2019 में नीदरलैंड के डेन बॉश में विश्व चैंपियनशिप से ओलंपिक के लिए पुरुष टीम कोटा पहले ही हासिल कर लिया है।

EURO CUP 2020: लेवानदोवस्की के गोल से पोलैंड ने स्पेन को 1-1 से बराबरी पर रोका

अनुभवी भारतीय महिला टीम को ओलंपिक में जगह बनाने के लिए 28 टीमों में से शीर्ष तीन में रहना था लेकिन वह निराशाजनक प्रदर्शन करते हुए इससे बाहर हो गई। विश्व रैंकिंग की तीसरे नंबर की खिलाड़ी दीपिका, अंकिता भगत और 19 वर्षीय कोमलिका बारी की तिकड़ी ने दो महीने पहले ग्वाटेमाला सिटी में विश्व कप चरण एक में गोल्ड पदक जीता था। टीम हालांकि यहां कोई भी सेट जीतने में नाकाम रही और कोलंबियाई खिलाड़ियों ने उन्हें 6-0 से करारी शिकस्त दी।

युगांडा की ओलंपिक टीम का सदस्य निकला कोरोना वायरस पॉजिटिव

एना मारिया रेंडन, वैलेंटिया एकोस्टा गिराल्डो और मायरा सेपुलवेडा की कोलंबियाई तिकड़ी ने ‘परफेक्ट 10’ (बिल्कुल सटीक निशाना) के दो निशाने लगाए और 55-54 से सेट अपने नाम कर लिया। दबाव में, भारतीय महिला टीम ने दूसरे सेट में कुल 49 अंक ही बने सकी। टीम ने इस सेट को भी दो अंकों से गंवा दिया। भारतीय टीम ने इससे पहले शानदार शुरुआत की थी, जिसमें दीपिका ने 674 का शीर्ष व्यक्तिगत स्कोर किया था। इससे टीम ने क्वालीफिकेशन में दूसरे स्थान पर रहते हुए दूसरे दौर में सीधे प्रवेश किया था।

संबंधित खबरें



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *