lockdown in maharashtra 1618108565


कोरोना वायरस संकट की वजह से महाराष्ट्र में लगे लॉकडाउन को लेकर ऊहापोह की स्थिति के बीच सरकार ने स्पष्ट किया है कि सोमवार से प्रतिबंधों में छूट दी जा सकती है। लॉकडाउन में ढील संबंधी आदेशों पर महाराष्ट्र सरकार का कहना है कि कोरोना संक्रमण के पॉजिटिविटी रेट और ऑक्सीजन बेड की उपलब्धता के आधार पर सोमवार से लॉकडाउन प्रतिबंधों में ढील दी जा सकती है। बता दें कि प्रतिबंधों में ढील देने को लेकर राज्य में असमंजस की स्थिति थी, जिसके बाद सरकार ने यह साफ किया है। 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, लॉकडाउन में ढील संबंधी आदेशों को लेकर महाराष्ट्र सरकार ने कहा कि राज्य में कोरोना संक्रमण की दर और ऑक्सजीन बेड की उपलब्धता के आधार पर ही लॉकडाउन में ढील दी जाएगी। सरकार ने कहा कि कहां पॉजिटिविटी रेट कैसी है और अस्पतालों में कितने बेड बचे हैं, इन सबको ध्यान में रखकर ही रियायतें दी जा सकती हैं। बता दें कि आदेश सोमवार से लागू हो जाएगा। 

इससे पहले महाराष्ट्र सरकार में मंत्री विजय वडेट्टीवार ने कहा था कि शुक्रवार से लेवल-1 में शामिल 18 जिलों में लॉकडाउन पूरी तरह से हटा लिया जाएगा। हालांकि उनके इस बयाने के बाद ठाकरे सरकार ने यू टर्न ले लिया था। मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा था कि विभिन्न क्षेत्रों में स्थिति के अनुसार प्रतिबंधों में ढील पर विचार किया जा रहा है, लेकिन फिलहाल निर्णय नहीं लिया गया है। इससे पहले मंत्री ने कहा था कि लेवल 1 में आने वाले जिलों में से लॉकडाउन पूरी तरह से हटाया जा सकता है। ठाणे समेत लेवल-1 में कुल 18 जिले हैं। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई को लेवल-2 में रखा गया है। आपको बता दें कि मुंबई में तेज गति से कोरोना संक्रमण से पनपे हालात पर काबू पाया गया।

सफाई में मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) ने बयान में कहा कि कोविड-19 महामारी पर अब तक पूरी तरह से नियंत्रण नहीं पाया जा सका है, इसलिए सरकार ने पाबंदियों में ढील देने का कोई फैसला नहीं लिया है। बयान में कहा गया, ”राज्य के कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति बेहद गंभीर बनी हुई है…राज्य में पाबंदी पूरी तरह खत्म नहीं हुई है।”  राज्य सरकार ने पिछले सप्ताह कहा था कि इस साल अप्रैल के महीने में लगाए गए प्रतिबंध 15 जून तक लागू रहेंगे।
 

संबंधित खबरें





Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *