uphesc university teacher recruitment 2021 1621697391


University Teacher Recruitment 2021 in UP: प्रदेश के राज्य विश्वविद्यालयों में शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया में किए गए बदलाव में शैक्षिक उपलब्धियों को खास महत्व दिया गया है। साथ ही इन उपलब्धियों का पारदर्शी तरीके से अंक निर्धारण की व्यवस्था भी की गई है। अंक निर्धारण सही न होने पर अभ्यर्थी को आपत्ति दाखिल करने का अवसर दिया जाएगा।

एपीआई स्कोर में होंगे सबसे ज्यादा 30 अंक
असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर चयन में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) या अन्य नियामक संस्थाओं द्वारा निर्धारित व्यवस्था के अनुसार अर्जित एकेडमिक परफार्मेंस इंडीकेटर (एपीआई) स्कोर पर अभ्यर्थी को 30 अंक मिल सकेंगे। इस तरह कुल 100 नंबरों में सबसे ज्यादा 30 अंक एपीआई स्कोर पर ही आवंटित किए गए हैं। एसोसिएट प्रोफेसर व प्रोफेसर के पद पर चयन में तो एपीआई स्कोर पर 60 अंक आवंटित किए गए हैं। असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए एपीआई स्कोर में पीएचडी, यूजीसी नेट, शोध पत्रों के राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय प्रकाशन, पुस्तक प्रकाशन, राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय सेमिनार में शोध पत्रों की प्रस्तुति और अन्य विशिष्ट उपलब्धियों पर अंक शामिल हैं। बेसिक अकादमिक स्कोर में गिने जाने वाले स्नातक, स्नातकोत्तर, एमफिल या समकक्ष डिग्री के आधार पर बेसिक अकादमिक स्कोर पर 20 अंक दिए जाएंगे। इसमें स्नातक में 70 प्रतिशत से अधिक प्राप्तांक होने पर सात अंक, परास्नातक में 90 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त होने पर 10 अंक और एमफिल की उपाधि होने पर तीन अंक दिए जाएंगे। प्राप्तांकों के प्रतिशत पर अलग-अलग अंक तय किए गए हैं।

स्कोर की गणना कर मांगी जाएंगी आपत्तियां
नई भर्ती प्रक्रिया के तहत प्राप्त आवेदन पत्रों की जांच के लिए विश्वविद्यालय में संवीक्षा समिति (स्क्रूटनी कमेटी) बनाई जाएगी। कमेटी बेसिक एकेडमिक स्कोर व एपीआई स्कोर की गणना की जाएगी। इनकी गणना करके तुरंत प्रकाशित की जाएगा और इनके संबंध में आपत्तियां आमंत्रित की जाएंगी। आपत्तियां प्राप्त करने के लिए सात दिनों का समय दिया जाएगा। सभी आपत्तियां ई-मेल के माध्यम से प्राप्त की जाएंगी। निर्धारित अवधि में यदि किसी अभ्यर्थी की आपत्ति प्राप्त होती है तो उसका निराकरण करके संशोधित गुणांक प्रकाशित किया जाएगा। यह कार्य संवीक्षा समिति द्वारा किया जाएगा। भर्ती प्रक्रिया में होने वाली 20 अंकों की लिखित परीक्षा आब्जेक्टिव टाइप होगी। परीक्षा का आयोजन विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक द्वारा कुलपति के पर्यवेक्षण में किया जाएगा।

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *