fc39054a4b70ba6c58fc351361e48178 original


कोविड -19 वैक्सीन की आपूर्ति के लिए वैक्सीन बनाने वाली कंपनियां राज्यों और निजी संस्थाओं के साथ जुड़ने के बजाय केंद्र के साथ सीधे सौदा करना पसंद कर रही हैं. इस समय दुनियभर में लोगों की उम्मीदें वैक्सीन पर टिकी हुई है. भारत में भी वैक्सीन की कमी महसूस की जा रही है. कोविड -19 से निपटने के लिए एक मैसेंजर आरएनए (एमआरएनए) वैक्सीन विकसित करने वाली बायोटेक्नोलॉजी कंपनी मॉडर्ना ने पंजाब सरकार के राज्य को वैक्सीन की सीधी आपूर्ति के अनुरोध को खारिज कर दिया है. अमेरिकी फर्म ने कहा कि उसकी नीति के अनुसार, कंपनी केवल केंद्र सरकारों के साथ काम करती है. कंपनी ने कहा है कि हमारी डील केंद्र सरकार से होगी इसलिए हम आपको वैक्सीन नहीं दे सकते.

इससे पहले पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की ओर से मॉडर्ना समेत कई वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों से संपर्क करने के निर्देश दिए गए थे. अधिकारियों ने इन कंपनियों से संपर्क किया था लेकिन उन्हें निराशा हाथ लगी है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि वैक्सीन बनाने वाली कंपनी मॉडर्ना ने पंजाब सरकार को वैक्सीन भेजने से इनकार कर दिया है. 

इन कंपनियों से साधा गया संपर्क 

पंजाब के नोडल अधिकारी विकास गर्ग ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के निर्देश के मुताबिक सभी वैक्सीन निर्माताओं से सीधे तौर पर वैक्सीन खरीदने के लिए संपर्क किया गया. इन कंपनियों में स्पूतनिक-वी, फाइजर, मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन शामिल हैं. वहीं, पंजाब सरकार ने बयान जारी कर कहा, “मॉडर्ना की नीति के मुताबिक वह भारत सरकार के साथ व्यवहार रखती है न कि राज्य सरकार के साथ. बता दें कि वैक्सीन की कमी की वजह से पंजाब को वैक्सीनेशन अभियान बीच में ही रोकना पड़ा है.

यह भी पढ़ें –

बिहारः जीतन राम मांझी ने ली दूसरी डोज, कहा- वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट पर स्थानीय CM की भी हो तस्वीर

Bihar Corona Update: 24 घंटे में 107 लोगों की कोरोना से मौत, 23 जिलों में सौ से भी कम मिले पॉजिटिव मरीज



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *