944f9ce38196ab1fb002d8cd26ea7276 original



<p style="text-align: justify;">मुश्किल वक्त में सेविंग ही काम आती है. इसलिए निवेश कर अपना भविष्य सुरक्षित करना चाहिए. निवेश करते वक्त कई बातों का ध्यान रखना चाहिए. निवेश जितनी जल्दी शुरू करें उतना अच्छा रहता है. जिस दिन से आपकी इनकम शुरू हो जाए, उस दिन से ही आपको निवेश करना भी आरंभ कर देना चाहिए. आज हम आपको निवेश के ऐसे गोल्डन रूल्स के बारे में बताएंगे जिन्हें अपनाकर आप फायदे में रहेंगे.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>कर्ज निपटाएं</strong><br />सबसे पहले अपने सभी कर्जे निपटाने की कोशिश करें. नौकरी की शुरुआत में अगर आप पर कोई कर्ज हैं तो उसे जरूर निपटा दें. हो सकता है आप पर एजुकेशन लोन हो या फिर कोई अन्य लोन जो आपके माता-पिता ने आपकी पढ़ाई के लिए लिया हो. सबसे पहले कर्ज को निपटा दें. ऐसा करने से आप चिंता मुक्त होकर पूरी तरह निवेश पर ध्यान दे पाएंगे.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>कम ही सही</strong><strong>&nbsp;</strong><strong>लेकिन निवेश जरूर करें</strong><strong><br /></strong>अगर आपको लगता है कि आपकी सैलरी कम है या आपके खर्चे ज्यादा हैं तो यह सोचकर निवेश नहीं टालना चाहिए. चाहें कम निवेश करें लेकिन निवेश जरूर करें.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>निवेश अवधि का रखें ध्यान</strong><strong>&nbsp;</strong><br />पैसा निवेश करते वक्त समय निवेश अवधि का ध्यान जरूर रखें. मतलब आप कितने समय के लिए पैसा निवेश करना चाहते हैं यह तय कर लें. याद रखें कि कई सेविंग स्कीम और योजनाएं लॉक इन पीरियड के साथ आती हैं. यानी इस पीरियड में आप अपना निवेश किया हुआ पैसा नहीं निकाल सकेंगे. इसलिए किसी सेविंग स्कीम को चुनते वक्त लॉक इन पीरियड का ध्यान रखें.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>निवेश के विकल्पों की तुलना करें</strong><br />कहीं भी पैसा लगाने से पहले निवेश विकल्पों की तुलना ठीक से करनी चाहिए. आपको देखना चाहिए कि किस स्कीम या योजना ने बीते सालों में कितना रिटर्न दिया हैं और यहां निवेश करना सुरक्षित है या नहीं.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>बड़े लक्ष्यों से बचें</strong><strong>&nbsp;</strong><br />निवेश का प्लान करते वक्त बहुत ज्यादा समय के लिए या बड़े-बड़े लक्ष्य बनाने से बचें. बड़े लक्ष्य को छोटे-छोटे हिस्सों में बांटे. इसके दो फायदे होंगे- पहला आप अपने निवेश की सही से निगरानी कर सकेंगे. दूसरा- अगर आपका निवेश सही रिटर्न नहीं दे रहा है तो, आप कुछ समय बाद उसके मैच्योर होने पर उसे कहीं और निवेश कर सकते हैं.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>यह भी पढ़ें: </strong><a href="https://www.abplive.com/business/goldman-sachs-slashes-growth-projections-india-2021-22-1909987"><strong>2021-22 के लिए भारत की उम्मीदों को बड़ा झटका, Goldman Sachs ने घटाया वृद्धि अनुमान</strong></a></p>



Car Home Loan EMI:


Car Loan EMI Calculator

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *