a6179e4efd715b8ef9ac660081dbe1d0 original


कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के सदस्य कर्मचारी एक जगह से नौकरी छोड़ने की तारीख EPFO सिस्टम में खुद अपडेट कर सकते हैं. पहले इसके लिए कर्मचारी को एंप्लॉयर पर निर्भर रहना होता था. एंप्लॉयर की ओर से कर्मचारी की डेट ऑफ एग्जिट अपडेट नहीं होने के चलते EPF से फंड निकालना या ट्रांसफर करना अटक जाता था. अब इस समस्या का सामना कर्मचारी को नहीं करना पड़ेगा क्योंकि EPFO सिस्टम में डेट ऑफ एग्जिट दर्ज करने का अधिकार अब उसे मिल गया है.

PF खाते में डेट ऑफ एग्जिट दर्ज करने की प्रक्रिया बेहद आसान है और यह प्रक्रिया पूरी तरह से ऑनलाइन है.

डेट ऑफ एग्जिट अपडेट करने की प्रक्रिया

  • https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface/ पर जाएं.
  • UAN, पासवर्ड और कैप्चा कोड डालें और लॉग इन करें. UAN का एक्टिव होना जरूरी है.
  • अब आपके सामने नया पेज खुलेगा. ऊपर दिए गए सेक्शन में ‘मैनेज’ टैब पर क्लिक करना होगा. इसके बाद ‘मार्क एग्जिट’ चुनें.
  • अब सामने ‘सिलेक्ट इंप्लॉयमेंट’ ड्रॉपडाउन आएगा. इसमें पुराना PF अकाउंट नंबर चुनें जो आपके UAN से लिंक होना चाहिए.
  • इसके बाद उस अकाउंट और नौकरी से जुड़ी डिटेल दिखाई देंगी. अब इसमें नौकरी छोड़ने की तारीख और कारण भरें.
  • नौकरी छोड़ने के कारणों में रिटायरमेंट, शॉर्ट सर्विस जैसे विकल्प रहेंगे.
  • इसके बाद ‘रिक्वेस्ट OTP’ पर क्लिक करें.
  • OTP आपके आधार से लिंक मोबाइल नंबर पर आएगा.
  • अब निर्धारित स्पेस में OTP डालें.
  • फिर चेक बॉक्स को सिलेक्ट करें.
  • अपडेट और उसके बाद ओके पर क्लिक करें.
  • आपकी डेट ऑफ एग्जिट सब्मिट हो गई है.

यह ध्यान रखें कि नौकरी छोड़ने के बाद 2 महीने तक आपको एग्जिट डेट दर्ज करने के लिए रुकना होगा. यह PF में एंप्लॉयर के आखिरी कॉन्ट्रिब्यूशन के 2 महीने बाद ही अपडेट होगी. EPFO सिस्टम में डेट ऑफ एग्जिट अपडेट होने के बाद इसे बदला नहीं जा सकता.

यह भी पढ़ें: PPF Account for Kids: अपने बच्चे के नाम पर भी खुलवा सकते हैं PPF अकाउंट, जानें कितना पैसा कर सकते हैं जमा?



Car Home Loan EMI:
Car Loan EMI Calculator

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *