a 50 year old olympics construction worker in tokyo was found unconscious and later died of suspecte 1565348195


जापान की सरकार ने मंगलवार को इन चिंताओं को खारिज किया कि अमेरिका की अपने नागरिकों को जापान की यात्रा करने से बचने की चेतावनी देने का आगामी टोक्यो खेलों में हिस्सा लेने के बारे में सोच रहे ओलंपियन पर असर पड़ेगा। अमेरिकी अधिकारियों ने वायरस के एक प्रकार से जापान में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों का हवाला देकर यह बात कही। अमेरिका का कहना है कि इस वायरस से टीके लगवा चुके लोगों को भी खतरा है।

अमेरिका ने अपने देश के नागरिकों के जापान की यात्रा करने पर बैन नहीं लगाया है, लेकिन इस चेतावनी का बीमा की दरों पर असर पड़ सकता है और साथ ही 23 जुलाई से शुरू होने वाले खेलों में हिस्सा लेने पर विचार कर रहे खिलाड़ियों और अन्य प्रतिभागियों का फैसला प्रभावित हो सकता है। जापान के अधिकतर बड़े शहर आपातकाल की स्थिति का सामना कर रहे हैं और कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण जून के मध्य तक यही स्थिति रहने की उम्मीद है।

टोक्यो ओलंपिक से नाम वापस ले सकते हैं अमेरिकी खिलाड़ी, जानिए वजह

इससे चिंता बढ़ गई कि अगर अस्पतालों पर इसी तरह दबाव रहेगा और देश में इतने कम लोगों का टीकाकरण होगा तो जापान में ओलंपिक के लिए आने वाले हजारों प्रतिभागियों की मौजूदगी से कैसे निपटा जाएगा। जापान के मुख्य कैबिनेट सचिव कात्सुनोबु केतो ने मंगलवार को नियमित प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि अमेरिका चेतावनी में जरूरी यात्रा को बैन नहीं किया गया है और जापान का मानना है कि ओलंपिक के आयोजन को लेकर टोक्यो के प्रयासों के लिए अमेरिकी समर्थन में कोई बदलाव नहीं आया है।

उन्होंने कहा कि हमारा मानना है कि खेलों के आयोजन को लेकर जापान की सरकार की प्रतिबद्धता के समर्थन पर अमेरिका की स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया है। केतो ने कहा कि वॉशिंगटन ने टोक्यो से कहा है कि यात्रा चेतावनी अमेरिकी ओलंपिक टीम के प्रतिनिधित्व से नहीं जुड़ी है।

कोविड-19 पॉजिटिव महान धावक मिल्खा सिंह अस्पताल में हुए भर्ती, हालत स्थिर

संबंधित खबरें



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *