उत्तर प्रदेश सरकार ने साफ कर दिया है कि यूपी बोर्ड की वर्ष 2021 में हाईस्कूल की परीक्षाएं नहीं होगी और इंटरमीडियट की परीक्षाएं जुलाई के दूसरे सप्ताह में प्रस्तावित हैं। 
   
इंटर की परीक्षा के लिए उप मुख्यमंत्री की तरफ से परीक्षा पैटर्न में बदलाव की जो बात कही गई है उससे असमंजस की स्थिति में है। इंटर परीक्षा के लिए कहा गया है कि तीन घंटे के स्थान पर डेढ़ घंटे की परीक्षा करायी जा सकती है। जिसमें परीक्षार्थियों को तीन सवाल हल करने होंगे। छात्र परेशान हैं कि क्या तीन सवाल एक प्रश्न पत्र में होंगे या तीन सवाल प्रश्न पत्र के एक ख्ण्ड में होंगे। 

रचित मानस (ज्वाइंट डायरेक्टर, ब्राइटलैंड) ने कहा, सरकार को सबसे पहले सभी असमंजस को दूर करना होगा। कल से ही छात्र लगातार सवाल पूछ रहे। यूपी बोर्ड को एक गाइडलाइन इंटर की परीक्षाओं को लेकर जारी करना चाहिए। 

मनीष सिंह (निदेशक एसकेडी अकादमी) ने कहा, अभी कुछ साफ नहीं हुआ। उम्मीद करते हैं 1 जून के बाद ही स्थिति साफ होगी की यूपी बोर्ड इंटर की परीक्षओं का पैटर्न क्या होगा। छात्र अपनी तैयारी करते रहे क्योंक तैयारी जरूर काम आती है। 



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *