randeep singh surjewala 1616600302


नरेंद्र मोदी सरकार की सातवीं वर्षगांठ पर कांग्रेस ने रविवार को आरोप लगाया कि यह सरकार देश के लिए हानिकारक है, क्योंकि वह हर मोर्चे पर विफल हुई है और इसने लोगों के भरोसे को तोड़ा है। पार्टी ने कहा, सच तो यह है कि मोदी सरकार के सात साल, 140 करोड़ लोगों के देश के लिए अथाह पीड़ा, अथाह तबाही और अथाह कष्ट की कहानी है। विपक्षी पार्टी ने इस मौके पर सरकार की ओर से की गई सात ‘बड़ी भूलों’ का एक आरोप-पत्र जारी किया है जिसमें मोदी सरकार द्वारा लोगों के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को त्यागने का आरोप लगाया गया है।

इसमें सरकार की प्रमुख असफलताओं के तौर पर गिरती अर्थव्यवस्था, बढ़ती बेरोजगारी और मंहगाई और कोविड-19 कुप्रबंधन को गिनाया गया है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्विटर पर कहा, कोरोना से लड़ने के लिए चाहिए- सही नीयत, नीति, निश्चय। महीने में एक बार निरर्थक बात नहीं!

गांधी की यह टिप्पणी उस दिन आई है, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मासिक रेडियो कार्यक्रम “मन की बात” में देश को संबोधित किया। कांग्रेस महासचिव एवं मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरेजवाला ने कहा कि पिछले सात वर्ष एक सरकार द्वारा अभूतपूर्व बर्बादी, जिम्मेदारियों के त्याग और भारत के लोगों का परित्याग किए जाने की कहानी है, जिसे पूरा प्रेम एवं स्नेह दिया गया।

उन्होंने कहा, यह सरकार देश के लिए हानिकारक है क्योंकि इसने भारत के लोगों के साथ विश्वासघात किया है। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में जताए गए लोगों के भरोसे एवं सहज विश्वास के साथ छल कर रही है। सुरजेवाला ने कहा, यह उस सरकार द्वारा 140 करोड़ भारतीयों के साथ किया गया सबसे बड़ा धोखा है, जिसे असंख्य वादों पर चुना गया है। सात वर्षों के बाद सबका हिसाब लेने का वक्त आ गया है। यह पूछने का वक्त आ गया है कि देश क्यों पीड़ा में है।

कांग्रेस साढ़े चार मिनट का एक वीडियो ‘भारत माता की कहानी’ भी लेकर आई है, जिसमें पिछले सात वर्षों में सरकार की ‘विफलताएं’ गिनाई गई हैं। सुरजेवाला ने पत्रकारों से कहा, सच तो यह है कि मोदी सरकार के सात साल, 140 करोड़ लोगों के देश के लिए अथाह पीड़ा, अथाह तबाही और अथाह कष्ट और दर्द की कहानी है। उन्होंने कहा, महामारी के बीच मोदी सरकार ने अपने लोगों का परित्याग कर दिया है और अपने कर्तव्य और जिम्मेदारी को त्याग दिया है।

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि मोदी सरकार गरीबी पर हमला करने के बजाय गरीबों, मध्यम वर्ग और हाशिए पर रहने वालों पर हमला करने की दोषी है। उन्होंने कहा, मोदी सरकार ने आज एक मजबूत भारतीय अर्थव्यवस्था को गहरी आर्थिक मंदी में तब्दील कर दिया है। बेतहाशा मंहगाई के लिए मोदी सरकार जिम्मेदार है जिसमें 70 साल में पहली बार पेट्रोल 100 रुपये और सरसों का तेल 200 रुपये प्रति लीटर के पार जा रहा है।

सुरजेवाला ने कहा, मोदी सरकार राष्ट्रीय अखंडता के साथ-साथ हमारी क्षेत्रीय अखंडता पर अक्षम्य समझौता करने की दोषी है। मोदी सरकार ने हमें केवल दर्द और पीड़ा दी है और उसने इस देश में लोकतंत्र की हर व्यवस्था का नाश किया है और हमें एक राष्ट्र के तौर पर इसे बहाल करने की जरूरत है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कांग्रेस महासचिव ने कहा कि इस देश में संभवत: पहली बार ऐसा हुआ है कि सरकार ने लाखों भारतीयों को अपने आप लोगों की देखभाल करने और महामारी के दौरान मरने के लिए छोड़ दिया। सुरजेवाला ने आरोप लगाया, क्या कोई शासक इस तरह से अपनी जिम्मेदारी से भाग सकता है। आप इवेंट-जीवी (कार्यक्रम कराने वाला), स्वप्न-जीवी और जुमला-जीवी हो सकते हैं, लेकिन इन सात वर्षों में कभी भी सेवा-जीवी और कर्तव्य जीवी नहीं रहे और यह आपकी सच्चाई है। 

कांग्रेस नेता ने कहा कि यह पूछने का समय आ गया है कि एक छद्म राष्ट्रवादी सरकार हमारी सीमाओं की रक्षा करने और चीनियों को हमारी सीमाओं से पीछे धकेलने में पूरी तरह से विफल क्यों है।

चुनाव में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन और पार्टी को एक वैकल्पिक ताकत के तौर पर न समझने को लेकर किए गए सवाल पर सुरजेवाला ने कहा कि पार्टी नेतृत्व इस बात से अवगत है कि उसकी पहली प्राथमिकता देश को मोदी-निर्मित आपदा से बचाना और देश को प्रगति के पथ पर वापस लाना, लोगों की जेब में पैसा डालने में मदद करना, उनकी आय बढ़ाना, किसानों के आंसू पोंछना और गरीब तथा कमजोर लोगों तक पहुंचना है।

उन्होंने कहा, कांग्रेस पार्टी इन प्राथमिकताओं को पूरा करने के लिए जो करने की जरूरत है, वह कर रही है। पार्टी जनता का विश्वास जीतने के लिए और मेहनत करेगी। उन्होंने कहा, कांग्रेस पार्टी प्राथमिकताओं को समझती है क्योंकि कांग्रेस एक विचारधारा है और सभी पार्टियां इससे ही निकली हैं।



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *