dead body of kerala woman killed in palestinian attack brought to india union minister pays tribute 1621044941


इस सप्ताह की शुरुआत में फिलिस्तीनी रॉकेट हमले में मारे गए केरल की महिला सौम्या संतोष  का शव दिल्ली के हवाई अड्डे पर पहुंचा। यहां केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन और इज़राइल के उप दूत रोनी येदिदिया क्लेन ने पुष्पांजलि अर्पित की और उन्हें श्रद्धांजलि दी। सौम्या का शव भारत लाने की जावनकारी विदेश राज्यमंत्री वी मुरलीधरन ने शुक्रवार को ट्वीट कर दी थी। उन्होंने कहा था कि सौम्या का शव इजराइल से नई दिल्ली होते हुए केरल लाया जा रहा है।

इजराइल में 11 मई को फिलीस्तीन की ओर से किए गए रॉकेट हमले में सौम्या की मौत हो गई थी। मुरलीधरन ने आगे कहा, ”सौम्या का पार्थिव शरीर शनिवार को यहां पहुंचेगा। मैं व्यक्तिगत तौर पर नई दिल्ली में मौजूद रहूंगा। उनकी आत्मा को शांति मिले। इदुक्की जिले के कीरीथोडू की रहने वाली 30 वर्षीय सौम्या इजराइल में पिछले सात वर्षों से घरेलू सहायिका के तौर पर काम कर रही थीं।”

इजरायल और हमास के बीच जंग तेज
इजरायली वायुसेना ने हमास के आंतरिक सुरक्षा मुख्यालय और आयुध भंडार पर हमला किया है। सेना की प्रेस सेवा ने एक बयान में यह जानकारी दी। बयान के मुताबिक वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने हमला किया। मुख्यालय में रफाह शहर के आंतरिक सुरक्षा सेवा के प्रमुख तथा अन्य विभागों का कायार्लय है। इजरायल और हमास के बीच जंग तेज हो गया।

इजरायल ने जमीनी आक्रमण की धमकी दी
इजरायल ने कहा कि वह गाजा सीमा पर बड़ी संख्या में सैनिकों को भेज रहा है। उसने हमास शासित क्षेत्र में संभावित जमीनी आक्रमण के लिए 9,000 सैनिकों को तैयार रहने को कहा है। यह दिखाता है कि दोनों शत्रु युद्ध की ओर बढ़ रहे हैं। मिस्र के मध्यस्थ संघर्ष विराम प्रयासों के लिए इजरायल पहुंचे लेकिन इसमें प्रगति के कोई संकेत नहीं दिखे हैं। इजरायल में चौथी रात भी सांप्रदायिक हिंसा होने के बाद लड़ाई और तेज हो गई। यहूदी और अरब समूहों में लॉड शहर में झड़पें हुई। पुलिस की मौजूदगी बढ़ाने के आदेश देने के बावजूद झड़पें हुईं।

लड़ाई ने यहूदी-अरब हिंसा को जन्म दिया
इस लड़ाई ने इजराइल में दशकों बाद भयावह यहूदी-अरब हिंसा को जन्म दिया है। लेबनान से देर रात रॉकेट दागे गए, जिससे इजरायल की उत्तरी सीमा पर एक तीसरे पक्ष के शामिल होने का खतरा पैदा हो गया है। हमास के एक वरिष्ठ निर्वासित नेता सालेह अरुरी ने लंदन स्थित एक चैनल को शुक्रवार को बताया कि उनके समूह ने पूर्ण संघर्ष विराम के लिए और बातचीत करने के लिए तीन घंटे के विराम के प्रस्ताव को ठुकरा दिया है। उन्होंने कहा कि मिस्र, कतर और संयुक्त राष्ट्र संघर्ष विराम प्रयासों की अगुवाई कर रहे हैं।

संबंधित खबरें





Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *