couple 1553417274


Relationship depression: जब दो व्यक्ति अपने प्यार भरे रिश्ते को संभालने में असमर्थ हो जाते हैं या फिर रिश्ते में बंधने के बाद एक दूसरे के विचारों में तालमेल नहीं बैठा पाते 
तो उनका रिश्ता बिखरकर टूटने लगता है। आज की युवा पीड़ी ऐसे ही एक दौर से गुजर रही है। जहां रिश्ते जितनी जल्दी बनते हैं, उतनी ही आसानी से जल्‍दी टूट भी जाते हैं। रिश्‍तों में दरार और अनबन कपल्‍स के बीच डिप्रेशन का कारण बनता है। जिसे रिलेशनशिप डिप्रेशन का नाम दिया जाता है। आइए जानते हैं आखिर क्यों कपल्स को झेलना पड़ता है रिलेशनशिप डिप्रेशन का दर्द और क्या है इससे बचने के उपाय। 

रिलेशनशिप डिप्रेशन के कारण-
आज की इस भागदौड़ भरी जिंदगी में हर व्यक्ति इतना व्‍यस्‍त हो चुका है, कि वह खुद अपने परिवार के लिए भी समय नहीं निकाल पा रहा है। ऐसे में एक-दूसरे के लिए वक्त की कमी के चलते धीरे-धीरे कपल्‍स के बीच दूरियां आने लगती है, जो आगे चलकर उनके रिश्‍ते में दरार पैदा कर सकती है। यह समस्या उन लोगों में ज्यादा देखी जाती है जो लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में होते हैं, जिन्हें प्यार में धोखा मिला होता है या फिर जरूरत से ज्यादा व्यस्त रहते हैं। याद रखें एक सफल और मजबूत रिश्ते को बनाए रखने के लिए व्यक्ति को उचित समय देना पड़ता है। यदि आप बहुत व्यस्त रहते हैं तो अपने पार्टनर के साथ कुछ पल क्‍वालिटी टाइम जरूर बिताएं। ऐसा करने से आप न सिर्फ उनके मन में चल रही नकारात्मकता बल्कि उनके अकेलेपन को भी दूर कर पाएंगे। याद रखें ये दोनों की चीजें भविष्य में व्यक्ति के लिए डिप्रेशन की स्थिति पैदा कर सकती हैं।

रिलेशनशिप डिप्रेशन का असर-
-रिलेशनशिप डिप्रेशन से गुजर रहे व्यक्ति के स्‍वभाव में चिड़चिड़ापन आने लगता है। 
-डिप्रेशन का असर व्‍यक्ति के शारीरिक और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य दोनों पर पड़ता है। ऐसा व्‍यक्ति भावनात्‍मक रूप से असुरक्षित महसूस करते हुए तनाव, उदासीनता और अकेलेपन का शिकार होने लगता है।   

रिलेशनशिप डिप्रेशन से बचने के उपाय-
-अगर आपका अपने पार्टनर के साथ किसी बात को लेकर मतभेद चल रहा है और आप उसे आपस में बैठकर नहीं सुलझा पा रहे हैं तो आपस का तनाव दूर करने और समस्‍याओं का हल निकालने के लिए अपने किसी करीबी दोस्‍त, परिवारजन या अन्‍य से परामर्श ले सकते हैं।
-पार्टनर और आपके बीच चल रहे तनाव और समस्या को बड़ा न बनाएं,  कोशिश करें कि आपसी बातचीत से ही चीजों को हल निकल आए। 
-रिश्तों में संवाद का होना बेहद जरूरी है, परेशानियों का हल आपसी बातचीत से भी निकल सकता है। 
-अपने व्‍यवहार को थोड़ा लचीला बनाएं, अपने रिश्‍ते में ईगो को न लाएं। 
-जीवन के अच्‍छे और मीठे पलों को याद करें, जिनसे आपको खुशी मिलती है।

-मेडिटेशन और योग की मदद लें। 

संबंधित खबरें

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *