pic credit twitter 1622483261


भारतीय बॉक्सर संजीत (91 किग्रा) ने दुबई में खेली जा रही एशियाई चैंपियनशिप में शानदार प्रदर्शन करते हुए गोल्ड मेडल को अपने नाम कर लिया है। संजीत ने फाइनल में वैसिली लेविट को हराया। हालांकि, शिवा थापा (64 किग्रा) और अमित पंघाल (52 किग्रा) को फाइनल मैच में हार का सामना करना पड़ा। अमित ने फैसले के खिलाफ रिव्यू का भी इस्तेमाल किया, लेकिन उसको खारिज कर दिया। 

हेड कोच मोहम्मद अली कमर बोले- प्रैक्टिस में अगर बाधा नहीं पड़ती, तो गोल्ड मेडल भारत के नाम और होते

संजीत ने लेविट को 4-0 से मात दी जो ओलंपिक के सिल्वर पदक विजेता हैं। रियो ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता एवं मौजूदा विश्व चैंपियन उज्बेकिस्तान के जोइरोव शाखोबिदीन ने 2019 की विश्व चैम्पयनशिप के फाइनल मुकाबले की तरह एक बार फिर ये पंघाल को 3-2 से हराया।  भारत ने पंघाल की हार का रिव्यू मांगा था जिसे जूरी ने खारिज कर दिया । पंघाल को दूसरे दौर में विरोधी मुक्केबाज पर पूरी तरह से भारी पड़े थे जबकि उनके पक्ष में खंडित फैसला दिया। 

फ्रेंडली मैच में स्विट्जरलैंड ने अमेरिका को दी मात, विजय अभियान पर लगाई रोक

पंघाल ने मैच के बाद अपने कोच का जिक्र करते हुए ट्वीट किया, ” मैं इस रजत पदक को अपने कोच अनिल धनकड़ के नाम करता हूं।’ थापा भी इसी अंतर से मंगोलिया के मंगोलिया के बातरसुख चिनजोरिग से हार गए। इस टूर्नामेंट में थापा का यह पांचवां पदक है। उन्होंने ल्रगातार दूसरी बार रजत पदक हासिल किया। दोनों मुकाबलों में भारतीय मुक्केबाजों ने दमदार खेल दिखाया लेकिन जजों का फैसला उनके पक्ष में नहीं रहा। 
 

संबंधित खबरें



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *