355846db4969a50bbf069d5623a27b3f original


अमेरिका के राष्ट्रपति जो बिडेन ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की आलोचना करने वाले पत्रकार रमन प्रतासेविच की बेलारूस में गिरफ्तारी को लेकर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. उन्होंने पत्रकार की गिरफ्तारी को प्रेस की स्वतंत्रता पर शर्मनाक हमला बताया है. उन्होंने कहा, “निश्चित रूप से इस घटना की जांच होनी चाहिए. बेलारूस ने इस फ्लाइट को मिंस्क में उतरने के लिए मजबूर किया था क्योंकि इसमें एक विपक्षी एक्टिविस्ट सवार था.”

दरअसल, एथेंस से विलनियस जा रही रायनएयर पैसेंजर फ्लाइट ने 23 मई को अचानक अपना रूट बदला और बेलारूस की राजधानी मिंस्क की तरफ मुड़ गई. रिपोर्ट्स के मुताबिक,  फ्लाइट सुरक्षा अलर्ट को ध्यान में रखते हुए मिंस्क की तरफ मुड़ गई थी. उधर मिंस्क एयरपोर्ट ने जानकारी देते हुए बताया कि बम होने की सूचना के बाद फ्लाइट को लिथुआनिया की राजधानी विलनियस के बदले बेलारूस में लैंड कराया गया. फ्लाइट के लैंड होते ही 26 वर्षीय पत्रकार प्रोतसेविच को गिरफ्तार कर लिया गया. प्रोतसेविच कुछ समय से निर्वासन में पोलैंड में रह रहे थे.

राष्ट्रपति एलक्जेंडर ने दिए थे आदेश

बेलारूस के राष्ट्रपति एलक्जेंडर लुकाशेंको की ओर से बताया गया कि फ्लाइट को डाइवर्ट करने का आदेश दिया गया था और इसके लिए एक मिग-29 फाइटर जेट भी भेजा गया था. वहीं, यूरोपियन यूनियन की प्रमुख उर्सुला वॉन डेर लेयेन ने रोमन प्रोतसेविच की रिहाई की मांग की है. लेयेन ने कहा कि बेलारूस सरकार को इस मामले में कार्रवाई करते हुए जिम्मेदार लोगों पर प्रतिबंध लगाने चाहिए.” इससे पहले पोलैंड के प्रधानमंत्री ने भी बेलारूस के इस कदम को सरकारी आतंकवाद बताया था.

ये भी पढ़ें :-

पाकिस्तान के PM का वीडियो ट्वीट कर बोलीं इमरान खान की पूर्व पत्नी- आदमी को महिलाओं की निजता में नहीं देनी चाहिए दखल

Pfizer ने कहा- भारत सरकार के साथ Covid-19 वैक्सीन पर चल रही चर्चा, जल्द इसके इस्तेमाल की है उम्मीद





Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *