b157f6d643a7be0e01126f2097f5e137 original



<p style="text-align: justify;"><strong>वाशिंगटन:</strong> स्पेसएक्स ने शुक्रवार को चार अंतरिक्ष यात्रियों को एक बार प्रयुक्त हो चुके रॉकेट और यान को नए सिरे से बनाकर कक्षा में भेजा. एलन मस्क की तेजी से बढ़ती इस कंपनी ने एक साल के भीतर तीसरी बार मानवयुक्त अंतरिक्षयान को अंतरिक्ष में भेजा है.</p>
<p style="text-align: justify;">अमेरिका, जापान और फ्रांस के ये अंतरिक्ष यात्री शनिवार सुबह अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र पहुंच जाएंगे. ये उसी ड्रैगन यान में 23 घंटे तक सफर करेंगे जिसका इस्तेमाल स्पेसएक्स ने पहले मानवयुक्त यान के तौर पर पिछली मई में किया था.</p>
<p style="text-align: justify;">यह पहली बार है जब स्पेसएक्स ने नासा के लिए अंतरिक्ष यात्रियों को भेजने के वास्ते किसी यान और रॉकेट का फिर से प्रयोग किया है. रॉकेट का इस्तेमाल पिछले नवंबर में कंपनी की दूसरी मानवयुक्त अंतरिक्ष उड़ान के लिए किया गया था.</p>
<p style="text-align: justify;">इस चलन को अपनाते हुए, अंतरिक्षयान के कमांडर शाने किमब्रोग और उनके साथी यात्रियों ने एक हफ्ते पहले ही रॉकेट से निकलने वाले धुएं से अपने नाम के शुरुआती अक्षर लिखकर नयी परंपरा शुरू करने की उम्मीद जताई थी.</p>
<p style="text-align: justify;">प्रक्षेपण के बाद मस्क ने कहा, &lsquo;&lsquo;यदि आपके पास त्वरित एवं पूर्ण पुन: प्रयोग क्षमता है तो यह दूसरे लोक में गमन का मार्ग है. वही हम करने की कोशिश कर रहे हैं, और नासा के सहयोग करने से चीजें काफी बदल जाती हैं.&rsquo;&rsquo;</p>
<p style="text-align: justify;">नासा की अंतरिक्ष यात्री मेगन मैकआर्थर के लिए यह एक तरह से पूर्व में हो चुके अनुभव की तरह है. उन्हें उसी सीट पर बिठाया गया था जिस पर उनके पति बॉब बेहनकेन स्पेसएक्स की पहली मानवयुक्त उड़ान के दौरान बैठ थे.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>यह भी पढ़ें:</strong></p>
<p style="text-align: justify;"><a href="https://www.abplive.com/news/world/china-says-are-in-contact-with-india-to-provide-help-in-fighting-against-corona-1905085"><strong>चीन ने कहा- कोरोना के खिलाफ लड़ने में मदद उपलब्ध कराने के लिए भारत के संपर्क में हैं</strong></a></p>
<p style="text-align: justify;">इसमें जापान के अकिहिको होशिदे और फ्रांस के थॉमस पेसक्वेट भी सफर कर रहे हैं जो किसी व्यावसायिक अंतरिक्षयान में भेजे जाने वाले पहले यूरोपीय व्यक्ति हैं.</p>



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *