anil deshmukh 1618163071


महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ लगे वसूली के आरोपों की जांच कर रही सीबीआई अब एक्शन में आ गए हैं। रविवार को केंद्रीय एजेंसी ने अनिल देशमुख के दो निजी सहायकों से पूछताछ की है। इसके अलावा एजेंसी ने एनआईए की गिरफ्त में चल रहे मुंबई पुलिस के निलंबित सचिन वाझे के दो ड्राइवरों से भी पूछताछ की है। मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह की ओर से अनिल देशमुख पर मुंबई से 100 करोड़ रुपये की वसूली का आरोप लगाया गया था। इसके बाद जमकर विवाद हुआ था और मामला बॉम्बे हाई कोर्ट भी पहुंचा था। केस की सुनवाई करते हुए उच्च न्यायालय ने सीबीआई को देशमुख के खिलाफ जांच का आदेश दिया था और उसके बाद उन्होंने होम मिनिस्टर के पद से इस्तीफा दे दिया था।

यही नहीं बॉम्बे हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी भी दाखिल की थी, लेकिन उच्चतम न्यायालय ने सीबीआई की जांच पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था। शीर्ष अदालत ने देशमुख पर कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा था कि आप पर गंभीर आरोप लगे हैं। आपके खिलाफ किसी दुश्मन ने आरोप नहीं लगाए हैं बल्कि एक वक्त में राइटहैंड रहे शख्स ने ये बातें कही हैं। इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट ने अनिल देशमुख के साथ ही परमबीर की भूमिका की भी जांच किए जाने की बात कही थी। अनिल देशमुख के अलावा महाराष्ट्र सरकार के एक और मंत्री अनिल परब का नाम भी इन दिनों चर्चा में है।

दरअसल इसी सप्ताह सचिन वाझे ने एनआईए को लिखे पत्र में अनिल देशमुख और अनिल परब पर वसूली का आरोप लगाया था। अनिल परब शिवसेना कोटे के मंत्री हैं और पार्टी ने उनका बचाव करते हुए कहा था कि बालासाहेब ठाकरे के नाम की शपथ लेने वाला कोई शख्स ऐसा नहीं कर सकता। पार्टी प्रवक्ता संजय राउत ने कहा था कि आजकल जेल से चिट्ठियां लिखे जाने का नया चलन शुरू हो गया है और लोगों को बदनाम करने की साजिशें रची जा रही हैं। 





Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *