corona 1 1


बीजिंग: कोविड-19 की उत्पत्ति पर डब्ल्यूएचओ और चीन की एक जॉइंट स्टडी में कहा गया है कि वायरस के चमगादड़ से किसी दूसरे जानवर के जरिए मनुष्यों में फैलने की आशंका है. वहीं इसके लैब से फैलने बहुत कम आशंका है. न्यूज एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस ने रिपोर्ट के हवाले से यह जानकारी दी है. रिपोर्ट के ये निष्कर्ष काफी हद तक अपेक्षित थे और रिपोर्ट में अभी भी कई सवालों के जवाब नहीं मिले हैं. इस टीम ने लैब से वायरस के लीक होने की परिकल्पना को छोड़कर आगे रिसर्च का प्रस्ताव दिया है.

रिपोर्ट के जारी होने में देरी से उठे सवाल

गौरतलब है कि रिपोर्ट के जारी होने में देरी की रही है. इससे सवाल उठ रहे हैं कि क्या चीनी पक्ष महामारी फैलने के दोष से चीन को बचाने के लिए निष्कर्षों को बदलने की कोशिश कर रहा था. विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक अधिकारी ने पिछले सप्ताह कहा था कि उन्हें उम्मीद है कि यह रिपोर्ट अगले कुछ दिनों जारी कर दी जाएगी.

एपी को डब्ल्यूएचओ में जिनेवा के एक राजनयिक से सोमवार को लगभग फाइनल रिपोर्ट मुहैया कराई है. हलांकि यह स्पष्ट नहीं था कि क्या रिपोर्ट को अभी भी जारी किए जाने से पहले बदला जा सकता है या नहीं. राजनयिक की पहचान उजागर नहीं की गई है.

वायरस फैलने के चार सिनेरियो

रिपोर्ट में शोधकर्ताओं ने वायरस के फैलने के चार सिनेरियो बताए हैं. उन्होंने रिपोर्ट में निष्कर्ष निकाला कि वायरस के चमगादड़ से दूसरे जानवर के माध्यम से मनुष्यों में फैला. उन्होंने कहा है कि चमगादड़ से मनुष्यों में सीधे वायरस के फैलने की संभावना बहुत कम है . इसके साथ ही “कोल्ड-चेन” फूड प्रोडेक्ट्स के जरिए वायरस फैल सकता है लेकिन इसकी भी आशंका कम ही है. यह रिपोर्ट काफी हद तक चीन के शहर वुहान में इंटरनेशनल एक्सर्ट्स की डब्ल्यूएचओ टीम की यात्रा पर आधारित है, जहां सबसे पहले कोविड-19 का पता चला था.

यह भी पढ़ें-

रूस: राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कोविड-19 वैक्सीन से साइड-इफेक्ट्स के सवाल पर क्या कहा? जानिए

स्वेज नहर में छह दिन से फंसा विशाल कार्गो जहाज चल पड़ा, दुनिया के लिए राहत की खबर



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *