pjimage 2021 03 09T070830.900


Anaemia: एनीमिया भारत में जन स्वास्थ्य के लिए बड़ा खतरा बना हुआ है. हालांकि, पोषण संबंधी कमी की खराबी किसी को प्रभावित कर सकती है लेकिन बच्चों, प्रेगनेन्ट महिलाओं और प्रसव काल में ज्यादा होता है. भारत में एनीमिया मातृ मृत्यु का एक सबसे प्रमुख कारण है. न सिर्फ बच्चे और महिलाएं बल्कि पुरुष भी एनीमिया से पीड़ित हो सकते हैं. एनीमिया एक ऐसी स्थिति है जो आयरन, स्वस्थ लाल रक्त कोशिकाएं या ब्लड में हीमोग्लोबिन की कमी से विकसित होती है.

आयरन की जरूरत प्रोटीन हीमोग्लोबिन को पैदा करने के लिए होती है जो लाल रक्त कोशिकाओं को ऑक्सीजन ले जाने में मदद करता है. कोलंबिया एशिया रेफरल हॉस्पीटल, यशवंतपुर में डॉक्टर शफालिका एसबी ने बताया है कि एनीमिया कैसे महिला के स्वास्थ्य को प्रभावित करता है और खतरे को कैसे कम किया जा सकता है.

एनीमिया होने की वजह क्या है?

ज्यादातर मामलों में एनीमिया अपर्याप्त पोषण जैसे आयरन, फोलिक एसिड और विटामिन B12, प्रोटीन, एमिनो एसिड, विटामिन A, C और अन्य विटामिन्स की सप्लाई के कारण होता है. आयरन की कमी एनीमिया होने का सबसे आम कारण है. बीमारियां जैसे एसआईवी, पुरानी बीमारी, किडनी की बीमारी, कैंसर भी एनीमिया की वजह बन सकता है.

ये महिलाओं के लिए प्रमुख चिंता क्यों है?

महिलाओं में एनीमिया के विकास की संभावना के पीछे कई वजहें होती हैं. मासिक धर्म में महिलाओं का ब्लड हर महीने उनके पीरियड्स के दौरान कम हो जाता है. नया ब्लड बनाने के लिए आयरन की जरूरत होती है जो ब्लड की कमी को पूरा कर सके. जिन महिलाओं का पीरियड्स लंबा होता है और जिनको भारी ब्लीडिंग का सामना होता है, उनको एनीमिया का ज्यादा खतरा होता है.

ये भी ध्यान दिया जाना चाहिए कि प्रेगनेन्सी में बच्चे के उचित विकास के लिए अतिरिक्त आयरन की जरूरत होती है. प्रेगनेन्ट महिलाओं को सामान्य महिलाओं के मुकाबले 50 फीसद ज्यादा ब्लड चाहिए. जन्म के समय भी महिलाओं में ब्लड की कमी होती है. ये सभी फैक्टर महिलाओं के लिए एनीमिया की एक बड़ी चिंता बनाते हैं.

एनीमिया को कैसे रोकें?

एनीमिया के कई प्रकार हैं, जैसे आयरन की कमी से होनेवाला एनीमिया, विटामिन की कमी से होनेवाला एनीमिया, अप्लास्टिक एनीमिया, ऑटोइम्यून हेमोलिटिक एनीमिया, पारनिसियस एनीमिया और सिकल सेल एनीमिया. लेकिन उन सबमें आयरन कमी से होनेवाला एनीमिया सबसे आम प्रकार है. एनीमिया के कुछ प्रकार की रोकथाम नहीं की जा सकती है. लेकिन उचित डाइट की मदद से महिलाएं निश्चित रूप से रोक सकती हैं या आयरन की कमी से होनेवाले एनीमिया की संभावना को कम कर सकती हैं.

Shraddha Kapoor की स्किन है बेहद सेंसेटिव, क्लीन और फ्रेश रखने के लिए करती हैं ये काम

ये दो ब्यूटी मिस्टेक कर बैठी थीं Neha Kakkar, भुगतना पड़ा था खामियाजा, अब ऐसे करती हैं त्वचा की देखभाल

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *