badminton world federation 1585198874


भारतीय बैडमिंटन दल को ऑल इंग्लैंड चैम्पियनशिप में भाग लेने के लिए मंजूरी मिल गई है क्योंकि कोविड-19 पॉजिटिव आने वाले खिलाड़ी संचालन संस्था (बीडब्ल्यूएफ) द्वारा बुधवार को हुई जांच में नेगेटिव आए हैं। तीन भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी और एक सहयोगी स्टाफ मंगलवार को जांच में पॉजिटिव आए थे जबकि कुछ अन्य अपने अनिर्णीत नमूनों के नतीजों का इंतजार कर रहे थे जिससे खिलाड़ी टूर्नामेंट से पहले जरूरी प्रैक्टिस नहीं कर पाए।

दोबारा जोड़ी बनाने के बाद पहले ही मुकाबले में हारे रोहन बोपन्ना और ऐसाम उल हक कुरैशी

भारत के दानिश विदेशी कोच माथियास बो ने इंस्टाग्राम में एक पोस्ट में लिखा, ‘टीम में किसी का भी टेस्ट पॉजिटिव नहीं है। हम ऑल इंग्लैंड चैम्पियनशिप के लिए तैयार हैं।’ बैडमिंटन विश्व महासंघ (बीडब्ल्यूएफ) और बैडमिंटन इंग्लैंड ने बुधवार को टीम मैनजरों को लिखे एक ईमेल में भी सूचित किया कि दोबारा टेस्ट में टीम के सभी सदस्य नेगेटिव आए हैं। इसमें यह भी कहा गया पॉजिटिव और अनिर्णीत परीक्षणों की उम्मीद से अधिक संख्या को देखते हुए इंग्लैंड के सार्वजनिक स्वास्थ्य और परीक्षण करने वाली कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ मश्विरे के बाद जांच और प्रयोगशाला प्रक्रिया की पूरी जांच की गई।

सौरव गांगुली बोले, इस टूर्नामेंट के सफल आयोजन से होना चाहिए प्रेरित

इसके अनुसार, इस जांच की प्रक्रिया के दौरान बैडमिंटन इंग्लैंड द्वारा पेश किए परीक्षणों के सटीक होने पर भी काफी संदेह उठाए गए जिसके कारण दोबारा से परीक्षण कराना ही उचित समझा गया। दोबारा परीक्षण और जांच के बाद के नतीजों को ही इस्तेमाल किया जाएगा। इससे पहले बीडब्ल्यूएफ और बैडमिंटन इंग्लैंड ने कोविड-19 परीक्षण के इतनी संख्या में अनिर्णीत नतीजों को देखकर टूर्नामेंट को शुरू में होने में कुछ घंटे की देरी करने का फैसला किया। भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल और उनके पति पारूपल्ली कश्यप टूर्नामेंट के शुरू होने से 24 घंटे पहले संदेह में थे क्योंकि कश्यप की कोविड-19 जांच अनिर्णीत थी। 



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *