corona comapny


यूएस बायोटेक्नोलॉजी कंपनी के शेयरों की कीमत कोरोनोवायरस वैक्सीन के कारण बढ़ जाने के बाद, एस्ट्राज़ेनेका पीएलसी ने मॉडर्ना इंक में अपनी 7.7 प्रतिशत हिस्सेदारी 1 बिलियन डॉलर से भी ज्यादा कीमत में बेच दी है. लेकिन रिपोर्ट में ये कहा गया है कि ये साफ नहीं है कि किस समय ब्रिटिश-आधारित एस्ट्राज़ेनेका ने मॉडर्न को अपनी हिस्सेदारी बेची है. तो वहीं इसपर  एस्ट्राज़ेनेका और मॉडर्ना ने अभी तक कोई जवाब नहीं दिया है.

मॉडर्ना ने जताई थी बड़ी उम्मीद

रिपोर्ट में सामने आया है कि एस्ट्राजेनेका मॉडर्ना के साथ अन्य रोगों के उपचारों पर साझेदारी बनाए रख रही है. बता दें कि मॉडर्ना की वैक्सीन को संयुक्त राज्य अमेरिका में COVID-19 के खिलाफ आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी दी हुई है. वहीं पिछले हफ्ते ही मॉडर्ना ने कहा था कि कंपनी इस साल अपनी कोरोनावायरस वैक्सीन से $ 18.4 बिलियन की बिक्री की उम्मीद कर रही है.

एस्ट्राज़ेनेका की वैक्सीन कोविशील्ड का बड़े पैमाने पर उत्पादन सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में हो रहा है. भारत से इसे कई देशों को भेजा भी जा रहा है. बता दें कि एस्ट्राजेनिका वैक्सीन COVID-19 की वैक्सीन है. ये वैक्सीन आपके शरीर में COVID-19 के वायरस के खिलाफ इम्यूनिटी तैयार कर देती है. खास तौर पर इस वैक्सीन को 18 साल या इससे ज्यादा की उम्र के लोगों को लगाया जा रहा है. एस्ट्राज़ेनेका एक ब्रिटिश-स्वीडिश बहुराष्ट्रीय दवा और बायो फार्मास्युटिकल कंपनी है.

अमेरिकी बायोटेक फर्म मॉडर्ना ने कुछ दिन पहले ही ये ऐलान किया था कि कोरोना वायरस के दक्षिण अफ्रीकी वैरिएन्ट को निशाना बनानेवाली उसकी नई वैक्सीन टेस्टिंग के लिए तैयार है. साथ ही कंपनी 2021 के लिए 600 मिलियन डोज से 700 मिलियन डोज का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपना उत्पादन बढ़ा रही है.

इसे भी पढ़ेंः

पाकिस्तानी कॉमेडियन ने थरूर की अंग्रेजी पर बनाया मजेदार वीडियो, कांग्रेस नेता बोले-अगला वीडियो इमरान खान पर बनाओ

जॉनसन एंड जॉनसन की एक खुराक वाली वैक्सीन को अमेरिका में मंजूरी, 66 फीसदी प्रभावी



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *