who chief tedros adhanom ghebreyesus thanks pm narendra modi for supporting vaccine equity says hope 1614275885


कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र की तारीफ करते हुए उनका धन्यवाद किया है। डब्ल्यूएचओ प्रमुख प्रमुख टेड्रोस एडेहनम ग्रेब्रेयेसस ने गुरुवार को कहा कि कोवैक्स और कोविड-19 वैक्सीन की खुराक को साझा करने में आपकी प्रतिबद्धता 60 से अधिक देशों को अपने स्वास्थ्यकर्मियों और प्रथमिक समूहों को टीकाकरण शुरू करने में मदद कर कर रही है। डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने आगे कहा कि उम्मीद है कि बाकी देश भी आपके इस उदाहरण का अनुसरण करेंगे। 

बता दें कि भारत ने कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में एकजुटता दिखाते हुए दुनिया के विभिन्न देशों को अनुदान सहायता और वाणिज्यिक आपूर्ति के तहत अब तक कोविड-19 रोधी टीके की 361.91 लाख खुराकें उपलब्ध कराई है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने गुरुवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि विभिन्न देशों को कोविड-19 के टीके की 67.5 लाख खुराकें अनुदान सहायता के रूप में उपलब्ध कराई गई हैं जबकि कॉमर्सियल सप्लाई के तहत 294.44 लाख खुराकें उपलब्ध कराई गई हैं। 

भारत में फिलहाल दो टीकें हैं जिनको इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिली है। सरकार की ओर से इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी मिलने के बाद भारत में टीकाकरण अभियान भी चल रहा है। जिन दो टीकों को मंजूरी दी है उसमें एक स्वदेशी टीका कोवैक्सीन शामिल है है। इस वैक्सीन को भारत बायोटेक और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) ने विकसित किया है। 

जबकि दूसरा टीका कोविशील्ड है। कोविशील्ड को आक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी-एस्ट्राजेनेका ने विकसित किया है और सीरम इंस्टीट्यूट भारत में इसका उत्पादन कर रहा है। भारत में इन दोनों टीके के उत्पादन के साथ-साथ इनको विदेशों में भी भेजा जा रहा है। ऐसे दर्जनों देश हैं जो भारत से टीके ले रहे हैं और अपने नागरिकों को टीका लगा रहे हैं।

इससे पहले डब्ल्यूएचओ ने कोरोनो वायरस बीमारी के प्रसार को रोकने के प्रयासों के लिए भारत की तारीफ की थी। WHO की ओर से कहा गया था कि देश में संक्रमणों की संख्या में लगातार गिरावट आई है। डब्ल्यूएचओ के भारत प्रतिनिधि रोडेरिको ऑफ्रीन ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा था, तीन महीने से अधिक समय से, भारत में कोविड-19 के मामले लगातार घटते जा रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि जनसंख्या की भयावहता को देखते हुए, यह कुछ ऐसा है जिस पर भारत सरकार को बहुत गर्व होना चाहिए। ऑफ्रीन ने कहा, टीकाकरण अभियान की प्रतिक्रिया में उनके परिश्रम, अनुशासन और जोश को हमने देखा है कि यह बहुत सफल रहा है। 22 दिनों में लगभग छह मिलियन टीके लगाए गए। हम टीकाकरण की दरें देख रहे हैं, यह सबसे तेज़ है।





Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *