नई दिल्ली: देश में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों का असर बाज़ार पर भी पड़ता नज़र आ रहा है. आज हफ्ते के कारोबार खुलने के पहले ही दिन बॉम्बे स्टॉक एक्सेंच का सेंसेक्स 1,145.44  अंक लुढ़क गया. बीएसई में लगातार पांचवें दिन गिरावट दर्ज की गई है. सोमवार को कोरोना के बढ़ते मामलों का डर निवेशकों में साफ नज़र आया और उन्होंने जमकर शेयर बेचे. आज सुबह बाज़ार के इंडेक्स ने 50,986.03 के सबसे ऊंचे स्तर को भी छुआ. हालांकि शाम होते होते भारी गिरावट के साथ बाज़ार बंद हुआ. इसके अलावा निफ्टी भी 306.05 अंकों के नुकसान पर बंद हुआ.

कितनी फिसदी की है गिरावट

बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 1,145.44 अंक यानी 2.25 प्रतिशत के नुकसान से 49,744.32 अंक पर आ गया. इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 306.05 अंक यानी 2.04 प्रतिशत टूटकर 14,700 अंक से नीचे 14,675.70 अंक पर बंद हुआ. रिलायंस इंडस्ट्रीज, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज और एचडीएफसी जैसी बड़ी कंपनियों के शेयरों में गिरावट से सेंसेक्स में ये गिरावट दर्ज की गई. वैश्विक बाजारों के नकारात्मक रुख ने भी बाजार धारणा को प्रभावित किया.

सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में डॉ. रेड्डीज का शेयर सबसे अधिक करीब पांच प्रतिशत टूट गया. महिंद्रा एंड महिंद्रा, टेक महिंद्रा, एक्सिस बैंक, इंडसइंड बैंक और टीसीएस के शेयर भी नुकसान में रहे. वहीं दूसरी ओर ओएनजीसी, एचडीएफसी बैंक और कोटक बैंक के शेयर लाभ में रहे.

आनंद राठी के इक्विटी शोध (बुनियादी) प्रमुख नरेंद्र सोलंकी ने कहा, “एशियाई बाजारों के मिले जुले रुख के बीच भारतीय बाजार भी स्थिर रुख के साथ खुले. चीन के केन्द्रीय बैंक पीबीओसी द्वारा ब्याज दरों को यथावत रखने की वजह से चीन के बाजार नुकसान में रहे. वहीं जापान के बाजार में मामूली बढ़त थी.’’

उन्होंने कहा कि दोपहर के कारोबार में बाजार नीचे आए. कोविड-19 के मामले बढ़ने की चिंता तथा इसका आर्थिक प्रभाव पूर्व के अनुमान से कहीं अधिक रहने की आशंका से निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई. अन्य एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कम्पोजिट, हांगकांग का हैंगसेंग और दक्षिण कोरिया का कॉस्पी नुकसान में थे. वहीं जापान के निक्की में लाभ रहा. शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार भी नुकसान में थे. इस बीच, वैश्विक बेंचमार्क ब्रेंट कच्चा तेल 0.66 प्रतिशत की बढ़त के साथ 62.55 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था.

पेट्रोल की कीमत पर राहुल गांधी का हमला, बोले- आपकी जेब खाली कर ‘मित्रों’ का खजाना भर रही सरकार



Car Home Loan EMI:
Car Loan EMI Calculator

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *