mudra 1


प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना का शुभारम्भ वर्ष 2015 में किया गया था. इस योजना के अंतर्गत देश के लोगों को खुद का छोटा व्यवसाय शुरू करने के लिए 10 लाख रुपए तक का लोन प्रदान किया जा रहा है. इसके तहत तीन तरह के लोन ऑफर की जाती हैं, जिसका नाम शिशु, किशोर और तरुण है. मुद्रा लोन योजना का लाभ उठाने के लिए बैंकों या लोन संस्थानों को कोई गारंटी देने या गिरवी रखने की आवश्यकता नहीं होती है. मुद्रा लोन का पुनर्भुगतान ईएमआई विकल्पों के साथ 3 साल से 5 साल तक होता है.

मुद्रा लोन के प्रकार

शिशु लोन : इसके तहत लोन उन लोगों को लोन दिया जाता है, जो सिर्फ अपना व्यवसाय शुरू कर रहे हैं और आर्थिक मदद की तलाश कर रहे हैं. इसके अंतर्गत अधिकतम 50 हजार रुपए का लोन दिया जाता है. 5 वर्ष की पुनर्भुगतान अवधि के साथ इसकी ब्याज दर 10 से से 12 फीसदी सालाना है.

किशोर लोन : ये लोन उनके लिए है, जिनका व्यवसाय शुरू हो चुका है, लेकिन स्थापित नहीं हुआ है. इसके तहत दी जाने वाली लोन की राशि 50 हजार से 5 लाख रुपए के बीच होती है. ब्याज की दर लोन देने वाली संस्था के आधार पर अलग-अलग होती है. व्यवसाय की योजना के साथ-साथ आवेदक का क्रेडिट रिकॉर्ड ब्याज दर तय करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. लोन भुगतान की अवधि बैंक द्वारा तय की जाती है.

तरुण लोन : ये उन लोगों के लिए है, जिनका व्यापर स्थापित हो चयका हो और उसे बढ़ाने और संपत्ति की खरीद के लिए धन की आवश्यकता होती है. इसमें लोन की राशि 5 लाख से 10 लाख रुपए के बीच है. ब्याज दर और भुगतान की अवधि योजना और आवेदक के क्रेडिट रिकॉर्ड पर आधारित होती है.

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना का उद्देश्य

कॉमर्शियल वाहन : ट्रैक्टर, ऑटो-रिक्शा, टैक्सी, ट्रॉली, माल परिवहन वाहनों, 3-पहिया, ई-रिक्शा आदि जैसे कॉमर्शियल वाहनों की खरीद के लिए लोन प्रदान करना.

सर्विस सेक्टर की गतिविधियां : सैलून, जिम, टेलरिंग की दुकानें, दवाई की दुकानें, ड्राई क्लीनिंग सहित अन्य छोटी दुकान आदि का व्यवसाय शुरू करने के लिए.

व्यापारियों और दुकानदारों के लिए व्यावसायिक गतिविधियां : दुकानों, सेवा उद्यमों, व्यापार, व्यावसायिक गतिविधियों और गैर-कृषि आय सृजन गतिविधियों की स्थापना के लिए.

कृषि व पशुपालन से जुड़ी गतिविधियां : कृषि-क्लीनिक और कृषि व्यवसाय केंद्र, खाद्य और कृषि-प्रोसेसिंग इकाइयां, पोल्ट्री, मछली पालन, मधुमक्खी पालन, पशुधन-पालन, ग्रेडिंग, डेयरी, मत्स्य पालन आदि व्यवसायों से संबंधित गतिविधियों के लिए.

मुद्रा लोन के लाभ

मुद्रा लोन प्रमुख रूप से दुकानदारों, व्यापारियों, विक्रेताओं और एमएसएमई को विनिर्माण, व्यापार और सेवा क्षेत्र की गतिविधियों में लगाया जाता है. मुद्रा योजना भारत सरकार की क्रेडिट गारंटी योजनाओं के अंतर्गत आती है. लोन की राशि का उपयोग टर्म लोन और ओवरड्राफ्ट सुविधाओं के रूप में भी किया जा सकता है. सभी गैर-कृषि उद्यम अर्थात आय सृजन गतिविधियों में लगी छोटे व्यवसाय मुद्रा लोन का लाभ उठा सकती हैं. मुद्रा योजना का लाभ मुद्रा कार्ड के माध्यम से लिया जा सकता है.

मुद्रा लोन के लिए आवश्यक दस्तावेज

बिजनेस प्लान, एप्लीकेशन फॉर्म, आवेदक और सह-आवेदक की पासपोर्ट साइज की तस्वीरें, आवेदक और सह-आवेदकों के केवाईसी दस्तावेज, पहचान का प्रमाण (आधार कार्ड/मतदाता पहचान पत्र/पासपोर्ट/ड्राइविंग लाइसेंस), निवास का प्रमाण (आधार कार्ड/मतदाता पहचान पत्र/पासपोर्ट/टेलीफोन बिल/बैंक विवरण),  इनकम प्रूफ (आईटीआर, सेल्स टैक्स रिटर्न, लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन आदि), एक विशेष श्रेणी जैसे कि एससी, एसटी, ओबीसी, अल्पसंख्यक (यदि लागू हो) का प्रमाण, व्यवसाय का पता और कार्यकाल प्रमाण, रजिस्ट्रेशन, लाइसेंस या प्रमाण पत्र (यदि कोई हो तो)

मुद्रा कार्ड

मुद्रा लोन लेने वाले लाभार्थी को मुद्रा कार्ड प्रदान किया जाएगा. यह मुद्रा कार्ड लाभार्थी डेबिट कार्ड की तरह उपयोग कर सकता है. मुद्रा कार्ड के माध्यम से लाभार्थी अपनी जरूरत के हिसाब से एटीएम से पैसे निकाल पाएगा. इस कार्ड का उपयोग अपने व्यापार से संबंधित जरूरत पूरी करने के लिए कर सकते हैं.

ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया

सबसे पहले आपको मुद्रा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा. प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना का होम पेज खुलकर आएगा. होम पेज पर आपको शिशु, किशोर और तरुण का ऑप्शन आएगा. इसका चयन करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा. आपको एप्लीकेशन फॉर्म इस पेज से डाउनलोड करना होगा. इसके बाद आपको इस एप्लीकेशन फॉर्म का प्रिंट निकालना होगा. अब आपको एप्लीकेशन फॉर्म में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी भरनी होगी. इसके बाद आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अटैच करना होगा. अब आपको यह एप्लीकेशन फॉर्म अपने नजदीकी बैंक में जमा करना होगा. आपकी एप्लीकेशन के सत्यापन के बाद एक महीने के अंदर आपको लोन प्रदान कर दिया जाएगा.

आवेदन कैसे करें

इस योजना के अंतर्गत जो इच्छुक लाभार्थी लोन प्राप्त करने के लिए आवेदन करना चाहते हैं, वह अपने नजदीकी सरकारी बैंक, निजी बैंक, ग्रामीण बैंक और वाणिज्य बैंक आदि में अपने सभी दस्तावेजों के साथ जाकर आवेदन कर सकते हैं. इसके बाद जिस बैंक से आप लोन लेना चाहते हैं वहां जाकर एप्लीकेशन फॉर्म लेकर भर दें और उसके साथ अपने सभी दस्तावेजों को अटैच करके बैंक के अधिकारी के पास जमा कर दें.

इन्हें भी पढ़ें…

प्रधानमंत्री आवास योजना: अपने घर का सपना हो सकता है साकार, जानें योजना से जुड़ी पूरी जानकारी

निक्षय पोषण योजना: क्या है यह योजना? कौन और कैसे उठा सकते हैं लाभ

अटल पेंशन योजना के तहत हर महीने पा सकते हैं 5 हजार रूपये की पेंशन



Car Home Loan EMI:
Car Loan EMI Calculator

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *