naomi osaka photo aus twitter 1613821267


जापान की नाओमी ओसाका ने शनिवार को महिला सिंगल फाइनल में जेनिफर ब्रैडी को सीधे सेटों में हराकर ऑस्ट्रेलियाई ओपन खिताब अपनी झोली में डाला, जो उनकी चौथी ग्रैंडस्लैम ट्रॉफी है। ओसाका ने ग्रैंडस्लैम में आठवीं बार खेलते हुए चौथा खिताब जीता, उन्होंने फाइनल में लगातार छह गेम हासिल कर 6-4, 6-3 से जीत दर्ज की।

शूटर मनु भाकर ने एयर इंडिया के दो कर्मचारियों पर लगाया बदसलूकी का आरोप

ओसाका ने पिछले साल अमेरिकी ओपन खिताब जीता था। उन्होंने 2018 में अमेरिकी ओपन और 2019 में ऑस्ट्रेलियाई ओपन की ट्रॉफी हासिल की थी। तेईस साल की ओसाका का जन्म जापान में हुआ लेकिन जब वह तीन वर्ष की थी अपने परिवार के साथ अमेरिका बस गई थी।

21 फरवरी से 8 मार्च यूरोप दौरे पर जा रही है भारतीय मेंस हॉकी टीम

वहीं 25 वर्षीय अमेरिकी खिलाड़ी ब्रैडी अपना पहला ग्रैंडस्लैम फाइनल खेल रही थी। जब वह जनवरी में ऑस्ट्रेलिया आई थी। तो उन्हें फ्लाइट में किसी के कोविड19 पॉजिटिव आने के कारण 15 दिन कड़े क्वारंटीन से गुजरना पड़ा था। स्टेडियम में करीब 7,500 दर्शकों को बैठने की अनुमति दी गई। जबकि कोविड-19 लॉकडाउन के कारण पांच दिन तक टूर्नामेंट के शुरू में दर्शकों का प्रवेश बंद कर दिया गया था।

AUS OPEN 2021: डेनियल मेदवेदेव पहली बार फाइनल में

केवल दो सक्रिय महिला खिलाड़ियों के पास ही ओसाका से ज्यादा ग्रैंडस्लैम खिताब हैं और वो हैं सेरेना विलियम्स (23) और वीनस विलियम्स (07)। अब ओसाका के लिए अगला काम क्ले और घास पर अपने प्रदर्शन में सुधार करना होगा क्योंकि वह फ्रेंच ओपन या विम्बलडन में तीसरे दौर से आगे नहीं पहुंच सकी हैं।



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *