शेयर बाजार में पिछले दो दिनों की तेजी पर न केवल आज ब्रेक लग गया बल्कि भारी गिरावट भी देखने को मिली। सेंसेक्स ने इस साल की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की। आज बाजार के लिए शुक्रवार ‘ब्लैक फ्राइडे’ साबित हुआ। फरवरी 2021 के इस आखिरी शुक्रवार को सेंसेक्स 1939.32 अंक यानी 3.80% लुढ़ककर 49,099.99 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं निफ्टी  568.20 अंकों के नुकसान के साथ 14,529.15 के स्तर पर बंद हुआ। सेंसेक्स के सभी 30 शेयर और निफ्टी 50 के सभी 50 स्टॉक्स लाल निशान पर बंद हुए। 

22 फरवरी को भी हुई थी बड़ी गिरावट

देश में कोरोना के बढ़ते मामले का असर सोमवार 22 फरवरी को शेयर बाजारों पर देखने को मिला था। निवेशकों के बीच घबराहट बढ़ने से सेंसेक्स 1145 अंक लुढ़ककर 50 हजार अंक से नीचे 49744 अंक पर  और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी भी 306 अंक फिसल कर 14675.70 अंक पर आ गया था। इससे पहले वाले हफ्ते में भी गिरावट के कारण बाजार में निवेशकों को पांच लाख करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान उठाना पड़ा था। आइए जानें अब तक की बड़ी गिरावटों के बारे में…

सेंसेक्स में 10 बड़ी गिरावट

क्रम संख्या तारीख सेंसेक्स में गिरावट
1 23 मार्च 2020 3,934
2 12 मार्च 2020 2919
3 16 मार्च 2020 2713
4 4 मई 2020 2,002
5 9 मार्च 2020 1941
6 26 फरवरी 2021 1939
7 18 मार्च 2020 1709
8 28 फरवरी 2020 1448
9 24 सितंबर 2020 1,114
10 18 मई 2020 1068

स्रोत: BSE

शेयर बाजार में गिरावट की वजह

देश के कई शहरों में कोरोना के मामेल फिर से बढ़ने और कोरोना के नए स्ट्रेन के फैलने को लेकर भी ट्रेडर्स में चिंता बढ़ी है। महाराष्ट्र, केरल जैसे कई राज्यों में कोरोना फिर फैलने लगा है। इसकी वजह से कई इलाकों में फिर से लोगों की आवाजाही पर अंकुश लगा है। वहीं आज आने वाले जीडीपी आंकड़ों को लेकर ट्रेडर्स में चिंता बनी है, हालांकि तीसरी तिमाही में जीडीपी में कुछ सुधार की संभावना है।

यह भी पढ़ें: गिरावट का बाजार:रिफाइंड सोया, शेयर, सोयाबीन, सोना-चांदी का बुरा हाल

तीसरी वजह  खराब अंतरराष्ट्रीय संकेत गुरुवार को अमेरिकी बाजारों में भारी गिरावट देखी गई।अमेरिकी वाल स्ट्रीट बाजार का मेन इंडेक्स भरभरा गया। डाऊ जोंस 559.85 अंकों के नुकसान के साथ  31,402.01 पर बंद हुआ। नैस्डैक भी 478.54 अंक लुढ़क गया। एस एंड पी 500 भी 96.09 टूटकर 3,829.34 पर आ गया। दरअसल  अमेरिका के ट्रेजरी बॉन्ड के यील्ड में भारी बढ़त हुई है, यानी वहां ब्याज दरें बढ़ने के आसार बने हैं, इसकी चिंता में शेयर बाजार पस्त हो गया।

कब-कब पस्त हुआ बाजार और क्या रहे कारण

24 सितंबर 2021 को वैश्विक बाजारों में भारी बिकवाली तथा विदेशी कोषों की निकासी से शेयर बाजार में बड़ी गिरावट देखने को मिली थी। बीएसई का सेंसेक्स 1,114.85 अंकों की गिरावट के बाद 36,553.60 पर बंद हुआ। वहीं निफ्टी 326.30 अंक गिरकर 10,805 के स्तर पर बंद हुआ। 

इतिहास की सबसे बड़ी गिरावट

23 मार्च 2020, तब दुनियाभर में कोरोना के केवल 3 लाख मामले सामने आए थे और 13 हजार लोगों की मौत हो चुकी थी। इस आंकड़े के बाद ग्लोबल मार्केट में कोहराम मच गया, जिसकी वजह से भारतीय शेयर बाजार में सुनामी आ गई। सेंसेक्स 3934 अंक का गोता लगाकर 25,981.24 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी 1110 अंक डूब कर 7634 के स्तर पर।

ब्लैक मंडे’ साबित हुआ 16 मार्च 2020

घरेलू शेयर बाजार के लिए एक ‘ब्लैक मंडे’ साबित हुआ 16 मार्च का दिन। इससे पहले 9 मार्च को बाजार ने ऐतिहासिक गिरावट देखी थी। 16 मार्च को सेंसेक्स ने जहां 2713.41 अंकों का गोता लगाया तो वहीं निफ्टी भी 757.80 अंक टूट गया। कारोबार के अंत में सेंसेक्स 31,390.07 के स्तर पर बंद हुआ और निफ्टी 9,197.40  के स्तर पर। शेयर बाजार में इस साल 2020 की यह 8वीं बड़ी और दूसरी सबसे बड़ी गिरावट थी।  

12 मार्च को शेयर बाजार में आई थी महामारी

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के कोरोना को विश्वव्यापी महामारी घोषित करने के बाद दुनिया भर के शेयर बाजारों में भूचाल आ गया। भारतीय शेयर बाजार के इतिहास में सबसे बड़ी गिरावट दर्ज हुई। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 2919 अंक गोता लगाने के बाद 32,778.14 के स्तर पर बंद हुआ।  वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 825 अंकों के भारी नुकसान के साथ 9,633.10 के स्तर पर बंद हुआ। 

नौ मार्च बना काला सोमवार

सेंसेक्स ने एक दिन में इतिहास की सबसे बड़ी इंट्राडे की 2467 अंकों की गिरावट देखी। बाद में सेंसेक्स 5.17% यानी 1941 अंक नीचे गिरकर 35,634 के स्तर पर बंद हुआ। निफ्टी में 538 अंकों की गिरावट आई और यह 10,451 के स्तर पर बंद हुआ। 

28 फरवरी 2020 को 1,448अंक टूटा था सेंसेक्स

फरवरी के अंतिम कारोबारी दिन को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स 1,448.37 अंक टूटकर 38,297.29 के  स्तर पर बंद हुआ। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 431.55 अंक टूटकर 11,201.75 के स्तर पर बंद हुआ।

नए वित्त वर्ष के पहले दिन बड़ी गिरावट

एक अप्रैल 2020 को 1203 अंक टूटकर 28,265.31 के स्तर पर बंद हुआ। नए वित्त वर्ष के स्वागत में निफ्टी भी  343.95 अंक के नुकसान से 8,253.80 अंक पर बंद हुआ। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 36 अंकों की गिरावट के साथ खुला था। 

18 मार्च 2020

करीब 500 अंकों की उछाल के साथ खुला सेंसेक्स कारोबार के अंत में 1709.58 अंक लुढ़क कर 28,869.51 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं निफ्टी निफ्टी 150.45 अंक उछलने के बाद धड़ाम हो गया। देश में कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से घरेलू शेयर बाजार में भारी उथल-पुथल देखने को मिली। सेंसेक्स एक समय करीब 2000 अंक तक टूट गया था, लेकिन बाद में थोड़ा संभलने के बाद साल 2020 की नौवीं बड़ी गिरावट के साथ बंद हुआ। 



EMI Calculator:
EMI Calculator

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *