pic credit ht 1612709277


भारत के पूर्व टेनिस खिलाड़ी अख्तर अली का कोलकाता के अपने निवास स्थान पर आज सुबह निधन हो गया। उनके निधन पर बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शोक व्यक्त किया है। अख्तर अली ने साल 1958 से लेकर 1964 के बीच टेनिस खिलाड़ी के रूप में इंटरनेशनल लेवल पर भारत का प्रतिनिधित्व किया था। अख्तर अली को साल 2015 में पश्चिम बंगाल की सरकार ने बंगाल के सर्वोच्च खेल पुरस्कार से सम्मानित किया था। 

अंकिता रैना ने रचा इतिहास, ग्रैंडस्लैम के मुख्य ड्राॅ में जगह बनाने वाली तीसरी भारतीय खिलाड़ी बनीं 

बंगाल की मुख्यमंत्री ने अपने शोक मैसेज में कहा, ‘टेनिस दिग्गज अख्तर अली के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ।’ उन्होंने कहा कि अख्तर सर ने देश के कई चैपियनों को ट्रेनिंग दी। पश्चिम बंगाल सरकार ने वर्ष 2०15 में उन्हें बंगाल का सर्वोच्च खेल पुरस्कार प्रदान किया था। उन्होंने कहा, ‘मेरा सौभाग्य था कि मुझे हमेशा उनका स्नेह मिला। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना।’ अख्तर अली 81 साल के थे और लंबे समय से बीमार चल रहे थे। वह काफी लंबे समय तक टेनिस से जुड़े रहे और भारतीय खिलाड़ियों को कोचिंग भी प्रदान की। 

AUS OPEN के पहले दौर में इस खिलाड़ी से भिड़ेंगे सुमित नागल

अख्तर अली ने दिग्गज खिलाड़ी लिएंडर पेस और जीशान जैसे प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को तैयार करने में अहम भूमिका निभाई थी। उनके परिवार के मुताबिक, अख्तर को दो हफ्ते पहले हॉस्पिटल ले जाया गया था, जहां पर उनको कैंसर होने के बारे में पता चला था। उनके बेटे जीशान भी भारत के जूनियर खिलाड़ियों को कोचिंग देते हैं। अख्तर अली ने अपने करियर में 8 डेविस कप मैचों में हिस्सा लिया और वह उन्होंने भारतीय टीम की कप्तानी भी की। 
 



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *