rishabh pant uttrakhand glacier burst photo twitter 1612754464


उत्तराखंड के चमोली जिले में रविवार को भारी तबाही मच गई, जब सुबह ग्लेशियर का एक हिस्सा टूटकर नदी में गिर गया। इससे ऋषि गंगा नदी में विकराल बाढ़ आ गई जिसमें कई लोग बह गए। बचाव टीम को अब तक 10 लोगों के शव बरामद हुए हैं, लेकिन 152 लोग अभी भी लापता हैं। इस आपदा से ऋषि गंगा पावर प्रोजेक्ट और एनटीपीसी प्रोजेक्ट को भारी नुकसान हुआ है। इस पूरी घटना से भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर ऋषभ पंत आहत हुए हैं। उन्होंने अब इस दुख की घड़ी में हादसे में पीड़ित लोगों की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया है।

पंत ने रविवार देर शाम इसको लेकर एक ट्वीट करते हुए लिखा, ” उत्तराखंड में लोगों की जान जाने से बेहद दुखी हैं। मैं अपनी मैच फीस को बचाव कार्य में देने का ऐलान करता हूं और लोगों से भी यह अपील करता हूं कि वो भी दुख की इस घड़ी में पीड़ित लोगों की मदद के लिए आगे आएं।” आपको बता दें कि पंत का जन्म हरिद्वार में ही हुआ है और वह उत्तराखंड के ही रहने वाले हैं। पंत ने रविवार को मुश्किल परिस्थितियों में टीम के लिए 88 गेंदों में 91 रनों की धमाकेदार पारी खेली। इस दौरान उन्होंने नौ चौके और पांच छक्के लगाए।

IND vs ENG: इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ने जो रूट को बताया विराट कोहली से बेहतर, फैन्स ने लगा दी क्लास

इस हादसे पर एसडीआरएफ ने बताया कि, ग्लेशियर टूटने की घटना रविवार सुबह 10: 50 बजे जोशीमठ से करीब 15 किमी की दूरी पर स्थित रेणी गांव के करीब हुई। ग्लेशियर के टूटने से ऋषिगंगा प्रोजेक्ट क्षतिग्रस्त हो गया। जिस पर एसडीआरएफ की पांच टीमों को तत्काल जोशीमठ रवाना किया गया। साथ ही श्रीनगर, ऋषिकेश, जोशीमठ में टीमों को अलर्ट स्थिति में रखा गया। हादसे की वजह से रैणी गांव के पास बीआरओ का लगभग 90 मीटर लंबा पुल भी आपदा में बह गया।

भारत को मुसीबत में डालने वाले स्पिनर ने की ऋषभ पंत की जमकर तारीफ

 





Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *