ford mahindra 1609485608


साल के पहले दिन ऑटोमोबाइल सेक्टर में जुड़ी एक बड़ी खबर आई है. अमेरिका की ऑटो कंपनी फोर्ड मोटर (Ford Motor Company) ने शुक्रवार को बताया है कि उसने और भारत की महिंद्रा एंड महिंद्रा (Mahindra & Mahindra) के साथ अपने जॉइंट वेंचर (Joint Venture) को रद्द कर दिया है। लेकिन दोनों कंपनियां भारत में अपने स्वतंत्र परिचालन को जारी रखेगी। फोर्ड मोटर कंपनी ने एक बयान में कहा कि दोनों कंपनियों ने अक्टूबर 2019 में इस संबंध में एक निश्चित समझौता किया था, जिसकी अवधि 31 दिसंबर 2020 को खत्म हो गई। लेकिन कंपनियों ने समझौते को अंतिम रूप देने के बजाय उसे खत्म करने का फैसला किया है।

 

ये भी पढ़ें:- 1 जनवरी से फास्टैग अनिवार्य, लेकिन हाइब्रिड लेन वाले 15 फरवरी तक यूज कर सकते हैं कैश

 

इस वजह से टुटा रिश्ता 
फोर्ड प्रवक्ता टी.आर. रीड के मुताबिक दोनों कंपनियों के बीच हुए इस ब्रेकअप की वजह कोरोना महामारी रही है। पिछले 15 महीनो में हुए वैश्विक आर्थिक और व्यावसायिक स्थितियों में बुनियादी बदलावो के चलते ये फैसला किया गया है। अक्टूबर 2019 में समझौते के बाद फोर्ड और महिंद्रा ने कहा था कि गाड़ियां तैयार करने का खर्च घटाने और विकासशील देशों में उन्हें बेचने के लिए ज्वाइंट वेंचर बनाया जाएगा। तब उन्होंने कहा था कि मिड-साइज एसयूवी समेत तीन यूटिलिटी व्हीकल लांच किए जाएंगे। इसके अलावा इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को मिलकर डेवलप किया जाएगा। 
महिंद्रा एंड महिंद्रा ने बंबई स्टॉक एक्सचेंज की दी जानकारी में कहा कि इस फैसले का उसके प्रोडक्ट प्लान पर कोई असर नहीं होगा। 

 

ये भी पढ़ें:-  Honda BR-V से लेकर Hyundai Xcent तक, साल 2021 में नहीं होगी इन 5 कारों की वापसी! कंपनी ने किया डिस्कंटीन्यू

 

रिपोर्ट के मुताबिक प्रस्तावित जॉइंट वेंचर में दोनों कंपनियों की 51:49 फीसदी हिस्सेदारी होनी थी। इसे भारतीय प्रतिस्पर्द्धा आयोग (Competition Commission of India) से पहले ही हरी झंडी मिल गई थी जबकि गुजरात और तमिलनाडु सरकार की तरफ से हरी झंडी का इंतजार था। लेकिन कोविड-19 के कारण इसमें देरी हुई। फोर्ड मोटर भारत सहित पूरी दुनिया में अपने बिजनस की समीक्षा कर रही है।

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *