moderna


ब्रिटेन के नियामक प्राधिकरण ने शुक्रवार को देश में उपयोग के लिए कोविड-19 के तीसरे वैक्सीन को मंजूरी दे दी है, जिसे मॉडर्ना कंपनी द्वारा तैयार किया गया है. हालांकि इस वैक्सीन को बाजार में पहुंचने में मार्च तक का टाइम लग सकता है. गौरतलब है कि यूके सरकार द्वारा मॉडर्ना कंपनी को 70,00,000 डोज के लिए ऑर्डर दिया गया है.  बता दें कि 30 हजार से ज्यादा लोगों पर मॉडर्ना वैक्सीन का परीक्षण किया गया था. जिसके परिणाम लगभग 95 प्रतिशत तक सुरक्षित देखे गए हैं. मॉडर्ना का दावा है कि उसकी कोरोना वैक्सीन नए स्ट्रेन के खिलाफ भी काफी असरदार है.

मॉडर्ना वैक्सीन, फाइजर या बायोएनटेक की तरह करती है काम

 मॉडर्ना वैक्सीन फाइजर या बयोएनटेक  वैक्सीन के समान काम करती है जो पहले से ही राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (NHS) द्वारा दी जा रही है. इसे शिपिंग के लिए लगभग -20C के तापमान की आवश्यकता होती है. इसकी तुलना में, फाइजर या बायोएनटेक एक को -75C के करीब तापमान की आवश्यकता होती है, जिससे परिवहन लॉजिस्टिक्स बहुत अधिक कठिन हो जाता है.

15 लाख लोग ले चुके हैं कोविड वैक्सीन की एक खुराक

गौरतलब है कि इससे पहले यूके में अमेरिकी कंपनी फाइजर और जर्मनी की कंपनी बायोएनटेक की वैक्सीन के साथ ही ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोरोना वायरस वैक्सीन को भी अनुमति दी जा चुकी है. ब्रिटेन में उपयोग के लिए अब तक स्वीकृत तीनों वैक्सीन की दो डोज लेनी होंगी. अब तक करीब 15 लाख लोग कोविड-19 वैक्सीन की कम से कम एक खुराक लगवा चुके हैं.

ये भी पढ़ें

US: भारतीय-अमेरिकी सबरीना सिंह बनी उप-प्रेस सचिव, नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के लिए करेंगी काम

जो बाइडेन ने की नई कैबिनेट की घोषणा, कहा- हर वर्ग के लोगों को दी जगह



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *