US violence


अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप समर्थकों की तरफ से यूएस कैपिटल में हमला करने के बाद इस घटना की जहां चारों तरफ दुनियाभर में निंदा हो रही है तो वहीं दूसरी तरफ चीन में इसका जमकर मजाक उड़ाया जा रहा है. इसके साथ ही, बीजिंग ने 2019 में हांगकांग में हुए सरकार विरोधी प्रदर्शन पर वाशिंगटन की तरफ से दी गई प्रतिक्रिया को लेकर अब उसकी आलोचना कर रहा है.

गुरुवार को चीन की सरकारी मीडिया ‘ग्लोबल टाइम्स’ ने एक वीडियो ट्वीट किया है. इस वीडियो में जुलाई 2019 में हांगकांग में हुए प्रदर्शन के दौरान वहां के विधान परिषद परिसर (Legislative Council Complex) का घेराव करते हुए प्रदर्शनकारियों की फोटो के साथ बुधववार को वाशिंगटन हुई हिंसा से तुलना की है. इस वीडियो में यह दिख रहा है कि डोनाल्ड ट्रंप के समर्थक यूएस कैपिटल में ट्रंप की हार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं, सेल्फी ले रहे हैं और सुरक्षाकर्मियों के साथ हिंसक झड़क पर इमारत में उत्पात मचा रहे हैं.

ग्लोबल टाइम्स ने ट्वीट करते हुए नैन्सी पेलोसी के जून 2019 में हांगकांग में हुए लोकतंत्र के समर्थन में प्रदर्शन का हवाला देते हुए कहा- स्पीकर पेलोसी ने हांगकांग में प्रदर्शन को ‘सुंदर नजारा’ करार दिया था. इसमें आगे कहा- “यह आगे देखना होगा कि क्या वह कैपिटल हिल में हुई हिंसा के बारे में भी यही कहेंगी.” चीन के कम्युनिस्ट यूथ लीग ने भी यूएस कैपिटल में हुए बवाल को ट्विटर की तरफ चीन के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म वेईबो पर ‘सुंदर दृश्य’ करार दिया है.

इधर, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों द्वारा कैपिटल भवन पर हमला बोलने के बाद अमेरिका की राजधानी में हुई अराजकता को देखते हुए वाशिंगटन डीसी में कर्फ्यू लगा दिया गया है. बुधवार देर रात एक बयान में वाशिंगटन डीसी की मेयर मुरील बोसेर ने कहा कि यह कर्फ्यू शाम 6 बजे से सुबह 6 बजे तक रहेगा. हालांकि यह कर्फ्यू मीडियाकर्मियों समेत जरूरी श्रमिकों पर लागू नहीं होगा.

उन्होंने कहा, “कर्फ्यू के घंटों के दौरान मेयर द्वारा तय किए गए लोगों के अलावा कोई भी व्यक्ति जिले के अंदर किसी भी सड़क, गली, पार्क, या अन्य सार्वजनिक स्थानों पर ना तो पैदल चल सकता है और ना ही परिवहन के माध्यमों कार, बाइक या मोटर से चल सकता है.”

बुधवार को ‘ट्रंप’ और ‘यूएसए, यूएसए’ के नारे लगाने वाले हजारों दंगाइयों ने पुलिस को मुश्किल में डाल दिया और सारे बैरियर्स हटाते हुए इमारत के अंदर पहुंच गए. उन्होंने सीनेट और हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव्स के संयुक्त सत्र के स्थगन के बाद उनसे मुलाकात कर एरिजोना के इलेक्टोरल कॉलेज वोटों पर अपनी आपत्ति जताई.

ये भी पढ़ें: अमेरिका हिंसा को फेसबुक ने बताया इमरजेंसी, 24 घंटे के लिए ब्लॉक किया डोनाल्ड ट्रंप का पेज





Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *