yes bank file pic 1583857171


निजी क्षेत्र के यस बैंक ने चालू वित्त वर्ष की दिसंबर, 2020 में समाप्त तीसरी तिमाही में 150.71 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया है।  इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में डूबा कर्ज बढ़ने की वजह से बैंक को 18,654 करोड़ रुपये का रिकॉर्ड घाटा हुआ था। शेयर बाजारों को भेजी सूचना में बैंक ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी कुल आय बढ़कर 6,518.37 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 6,268.50 करोड़ रुपये थी। तिमाही के दौरान बैंक की सकल गैर-निष्पादित आस्तियां (एनपीए) घटकर कुल ऋण का 15.36 फीसद रह गईं, जो एक साल पहले समान तिमाही में 18.87 फीसद थीं। 

यह भी पढ़ें: शेयर बाजार की तेजी से सतर्क रहे निवेशक, कभी भी आ सकती है बड़ी गिरावट

इसी तरह बैंक का शुद्ध एनपीए भी घटकर 4.04 फीसद रह गया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 5.97 फीसद था।  इसके चलते बैंक का कर और आकस्मिक खर्च को छोड़कर अन्य प्रावधान घटकर 2,198.84 करोड़ रुपये रह गया, जो एक साल पहले समान तिमाही में 24,765.73 करोड़ रुपये था। इस बीच, बैंक के निदेशक मंडल ने इक्विटी या ऋण के जरिये 10,000 करोड़ रुपये जुटाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। 

अल्ट्राटेक सीमेंट का शुद्ध लाभ दोगुना

 आदित्य बिड़ला समूह की कंपनी अल्ट्राटेक सीमेंट का दिसंबर, 2020 में समाप्त चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही का शुद्ध लाभ दोगुना से अधिक होकर 1,584.58 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। बीएसई को भेजी सूचना में कंपनी ने यह जानकारी दी।  देश की प्रमुख सीमेंट उत्पादक कंपनी ने इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 711.17 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था।  तिमाही के दौरान कंपनी की परिचालन आय 17.38 फीसद बढ़कर 12,254.12 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 10,439.34 करोड़ रुपये रही थी। 

यह भी पढ़ें:एलन मस्क की नजर मुकेश अंबानी के रिलायंस जियो पर, ग्राहकों को होगा बड़ा फायदा 

तिमाही के दौरान अल्ट्राटेक सीमेंट का कुल खर्च 6.29 फीसद बढ़कर 10,190.03 करोड़ रुपये पर पहुंच गया, जो एक साल पहले समान तिमाही में 9,611.08 करोड़ रुपये रहा था।  समीक्षाधीन तिमाही में कंपनी की बिक्री 14 फीसद की वृद्धि के साथ 2.28 करोड़ टन रही।

महिंद्रा लाइफस्पेस डेवलपर्स को 11.19 करोड़ रुपये का घाटा

रियल्टी कंपनी महिंद्रा लाइफस्पेस डेवलपर्स लिमिटेड को चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में कम आय के चलते 11.19 करोड़ रुपये का घाटा हुआ।कंपनी को पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 1.81 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। कंपनी ने शेयर बाजारों से कहा कि इस दौरान उसकी कुल आय साल भर पहले के 85 करोड़ रुपये से कम होकर 70.19 करोड़ रुपये पर आ गयी।

यह भी पढ़ें:इंडिगो पेंट्स के आईपीओ को 117 गुना अधिक अभिदान मिला, स्टोव क्राफ्ट ने आईपीओ से पहले 185 करोड़ रुपये जुटाए

कंपनी के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) अरविंद सुब्रमण्यन ने कहा, ”सभी बाजारों में आवासीय संपत्तियों की मजबूत मांग रही है। हमने अपनी बिक्री में हर लिहाज से वृद्धि दर्ज की है। दरअसल तीसरी तिमाही में बिक्री चालू वित्त वर्ष की पहली दो तिमाहियों के संयुक्त आंकड़े से बेहतर रही है। महिंद्रा लाइफस्पेस डेवलपर्स की स्थापना 1994 में हुई थी। यह कंपनी 19.4 अरब डॉलर के महिंद्रा समूह का हिस्सा है।



EMI Calculator:
EMI Calculator

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *